Advertisements

The One Thing by Grey Keller | Book Summary | सिर्फ एक चीज आपकी सफलता के लिए

सिर्फ एक चीज, आपके Success के लिए | बस एक काम के ऊपर फोकस करना सीखो | एक Habit, जो आपको सफल बनाएगी |The one thing Book summary | Why You Should Focus on Only One Thing | The One Thing by Grey Keller | The one Thing- Hard Work vs Smartwork । How to be Successful in Life | Let’s Know, How to get Your Destination is Easily | The One Thing Book Review

The One Thing by Grey Keller
Advertisements

THE ONE THING - Book Summary

 अगर सबके के पास, एक दिन में बराबर घण्टे हैं। तो कुछ लोग, काफी कुछ कर लेते हैं। अपनी लाइफ में और क्यों। कुछ लोग काफी कम कर पाते हैं। कुछ लोग ज्यादा अमीर, successful और ज्यादा achieve कर पाते हैं। जबकि उनके पास भी दिन मे 24 ही होते हैं। वही हमारे पास भी। इसका answer simple है।

  उन सभी चीजों करना छोड़ दो। जो आप कर सकते हो। वह सभी करना शुरू कर दो। जो आपको करना चाहिए। हर चीज equally important नहीं होती है। जो सच में करना important है, उसे करना शुरू करो। Author कहते हैं अगर आपको extraordinary results पाने है। तो आपको, अपने फोकस को narrow करना होगा।

      Success पाने के लिए, आपको ज्यादा नहीं। कम काम करना होगा। लोगों की mentality है कि successful होने के लिए। आपको ज्यादा मेहनत और ज्यादा time देना होगा। लेकिन ऐसा नहीं है। आपको ज्यादा काम नहीं, कम करने हैं। आपको life में जितना हो सके। फालतू के कामों को remove करना है। उन कुछ कामों को करना होगा। जो आपको सचमुच सफल बनाएंगे।

        हम सभी को एक दिन में 24 घंटे मिलते हैं। तो फिर क्यों, कुछ लोग आज के काम को खत्म करने के लिए, आने वाले कल पर निर्भर हो जाते हैं। कैसे कुछ लोग अपने सारे काम time पर खत्म कर लेते हैं। कैसे कुछ लोग बहुत जल्दी कामयाब होकर, मशहूर हो गए हैं। क्यों कुछ लोग बहुत समय से try करते हुए, अभी तक अपनी पहचान नहीं बना पाए।

The One Thing, book में इन्हीं समस्याओं के लिए एक framework दिया है। जो हमें कम समय में ज्यादा काम खत्म करने और time पर कामयाबी हासिल करने में मदद करता है।

What is The One Thing ?

 One Thing का मतलब है। एक काम या एक चीज को करने के लिए। अपना सारा time और energy लगाना। अभी के लिए, बाकी सारे दूसरे कामों को भूल जाना। ऐसा काम जो आपके लिए सबसे ज्यादा जरूरी है। जो सबसे ज्यादा matter करता है। ऐसा काम जो आपके life purpose को पूरा करता है।

 उदाहरण के लिए, आप महान player सचिन तेंदुलकर को, सिर्फ cricket वजह से जानते है। उन्होंने अपना ज्यादा से ज्यादा time और energy, खुद को क्रिकेट में बेहतर बनाने के लिए इस्तेमाल की। फिर वह क्रिकेट के साथ-साथ, कंप्यूटर प्रोग्रामिंग, रियल स्टेट के एक्सपर्ट बनने की कोशिश करते। तो वह इन तीनों में से किसी एक चीज के भी expert नहीं बन पाते। इतने expert नहीं बन पाते। कि उन्हें भारत रत्न के अवार्ड से सम्मानित किया जाता है।

    आपका मन भी ज्यादातर लोगों की तरह। एक से ज्यादा चीजें करने या बनने के लिए कहता होगा। जैसे कभी आपका मन करता होगा। डॉक्टर बनने का, कभी क्रिकेटर बनने का और कभी आपका मन इंजीनियर बनने का करता होगा। आप खुद से साफ-साफ पूछिए। आप जिंदगी में क्या बनना चाहते हैं। आपका life purpose क्या है। अगर आप एक रास्ते से दूसरे रास्ते को बदलते रहेंगे। तो आप कहीं नहीं पहुंच पाएंगे। जहां पर आप हैं, उसी के आसपास घूमते रहेंगे। आज आपके लिए One Thing क्या है। इसका पता लगाने के लिए, आप 80 – 20 Principle का इस्तेमाल कर सकते हैं। 80-20 प्रिंसिपल कहता है। हमारे 20% काम, हमें 80% result देते हैं। वही हमारे 80% काम, हमें सिर्फ 20% ही रिजल्ट देते हैं। तो आज आप जितने भी काम करने वाले हैं। उनमें कौन से ऐसे 20% काम है। जिनसे आपको 80% रिजल्ट मिल सकता है। ऐसा तब तक करते रहिए। जब तक आपके पास एक काम बच जाए। आज की यह One Thing, आपको भविष्य की One Thing जानने में मदद करेगी। वह हम domino effect की मदद से समझ सकते हैं।

The Domino Effect

  एक single domino अपने से 50% बड़े domino को गिराने की capacity रखता है। अगर हम एक सिर्फ 2 इंच के domino को ले। फिर अगला domino 50% बढ़ा यानी कि 3 इंच का हो। फिर ऐसा करते-करते पूरे 57 dominos को खड़ा कर दे। तो 23rd domino एफिल टावर से भी बड़ा होगा। 31st Domino माउंट एवेरेस्ट से 3000 feet बड़ा होगा। 57th डोमिनो earth से moon तक की distance जितना बड़ा होगा।

      मजे की बात तो यह है कि पहले सिर्फ 2 इंच के domino को गिराकर, हम बाकी सारे dominos को आसानी से गिरा सकते हैं। जिसको हमारे लिए, खुद से गिराना impossible होता है। तो अपनी life में भी domino effect  लाओ। 

एक सही काम करो। फिर थोड़ा बड़ा सही काम करो। ऐसा करते रहो। जिन लोगों के पास, deep knowledge होती है। उन्होंने time के साथ सीखी होती है। जिनके पास अच्छी skills होती है। वो time के साथ develop होती है। जिनके पास काफी पैसा है। वो time के साथ, जमा किया होता है। इसका मतलब है कि success एकदम नहीं बल्कि time के साथ sequential  build होती है।

Six Lies Between You and Success

कुछ आधी-अधूरी जानकारी रखने वाले, गुरु और सलाहकारों ने, हमारे दिमाग में 6 झूठ भर रखे हैं। जिनको हम सभी सच मानते हैं। कामयाब होने के लिए, उन पर चलते हैं। लेकिन हकीकत यह है। इन्हीं छह झूठो की वजह से, आप कामयाब नहीं हो पाते।

The One Thing
Everything Matters Equally

   जब सारे काम urgent और important दिखाई देने लगते हैं। तब हमें लगने लगता है कि सब कुछ equally, matter करता है। जब सारे काम urgent और important दिखाई देने लगते हैं। तब हम सोचते हैं। सब कुछ बराबर मायने रखता है। लेकिन ऐसा नहीं होता। हर एक urgent काम important नहीं होता। एक distraction होता है । 

      दूसरी बात सारे काम जरूरी नहीं होते। कुछ काम ऐसे होते हैं। जिन्हें सबसे पहले करना पड़ता है। कुछ काम ऐसे होते हैं। जिन्हें करना तो है, लेकिन उन्हें अभी करने की जरूरत नहीं है। अगर हम वह काम सबसे पहले कर लेंगे। जिसकी जरूरत अभी नहीं थी। तो हमारे पास time नहीं बचेगा। उस काम को करने के लिए, जिनकी जरूरत अभी है।

      इसको हम ऐसे समझ सकते हैं। मान लीजिये आप एक author हो। आपको एक book लिखनी है। आपने अभी तक book का एक page भी नहीं लिखा। आप सोचने लगे कि book का cover कैसा होगा। कौन से publisher से publish कराऊं। Book का price क्या रखूं । इन सब के बारे में सोचकर, आप अपना समय खराब कर रहे हैं।

यह सारी चीजें अभी जरूरी नहीं है। अभी जरूरी है, book का पहला पेज लिखना। फिर दूसरा, फिर तीसरा। इस तरह पहले पूरी book को complete करना जरूरी है। इसके बाद आप price, publisher और cover के बारे में सोच सकते हैं। सभी कामों में से कौन-सा काम सबसे ज्यादा जरूरी है। यह जानने के लिए 80-20 principle का इस्तेमाल कीजिए।

The One Thing
Multitasking

 Author कहते हैं, multitasking एक झूठ है। जो अच्छा नहीं है। न ही इसकी हमें जरूरत है। एक practical करके देखते हैं। इससे पता लग जाएगा कि multitasking हमारे लिए कितना बुरा है। अगर मैं english alphabet – A,B,C,D,E तक पढ़ता हूं। तो मुझे 1.04 सेकंड का समय लगता है। अगर मैं mathematics number – 1,2,3,4,5 तक count करता हूं। तो मुझे 1.12 का सेकंड का समय लगता है। दोनों लाइन को अलग-अलग पढ़ने पर 2.16 सेकंड का समय लगता है। लेकिन अगर मैं इन दोनों lines को एक साथ पढ़ने की कोशिश करता हूं। जैसे – A1, B2, C3, D4, E5 तब मुझे 6.48 second का समय लगता है। 

     अलग-अलग पढ़ने पर सिर्फ 2.16 सेकंड का समय लगता है। लेकिन एक साथ पढ़ने पर 6.48 सेकंड का समय लग रहा है। ऐसा क्यों, यह ज्यादा time किस चीज में जा रहा है। जब मैं A पढ़ने के बाद, दूसरी line का 1 पढ़ता हूं। तब मुझे switch होने में time लगता है। जब फिर से 1 count करने के बाद, वापस पहली लाइन पर जाता हूं। तो यह सोचने में time लग जाता है। कि मैंने english alphabet को लाइन किस letter पर छोड़ी थी। इन सबमें यानी कि multitasking में, मुझे 3 गुना ज्यादा समय लगा। 

तो शायद अब समझ में आ गया होगा कि multitasking क्यों बुरी है। हम multitasking इसलिए करते हैं। हमें लगता है कि हम समय से पहले अपना काम खत्म कर लेंगे। लेकिन होता उसका उल्टा है। हम दोनों काम एक साथ करने के चक्कर में, ज्यादा time ले लेते हैं। फिर काम भी ठीक से नहीं हो पाता। जिससे होता यह है कि बीते कल का काम भी urgent बनकर आ जाता है। जिससे हमारे आज के काम भी रुक जाते हैं।

The One Thing
A Disciplined Life

Author कहते हैं कि जैसा हम सोचते हैं। Success के लिए discipline होना जरूरी है। तो यह काफी हद तक गलत है। Discipline तब तक ही important है। जब तक कि आपकी habit, develop न हो। एक बार आपकी habit develop हो गई। तो बाकी काम खुद ब खुद हो जाता है। Discipline रहने का मतलब है। आपको खुद को specific way में act करने के लिए force करते हो।

      उदाहरण के लिए Smoker को smoke करने के लिए मेहनत नहीं करनी पड़ती। उसकी habit खुद ब खुद से ऐसा करवा लेती है। तो एक habit को develop करो। क्योंकि जब एक मुश्किल काम habit बन जाएगी। तो habit उस काम को easy बना देगी।

     कामयाबी हासिल करने के लिए, discipline life होना, सबसे ज्यादा जरूरी है। आप कम discipline होते हुए भी, कामयाब हो सकते हैं। क्योंकि कामयाबी सही काम को, सही तरीके से करने से मिलती है। न कि सारे काम सही करके। जिंदगी में उतना discipline होना काफी है। जितने आप अपनी One thing पर काम कर सको। 

Follow the Steps-

1. हमेशा discipline में मत रहो। Powerful habits को बनाने के लिए discipline में रहो।

2. एक बार में अपनी एक habit को बनाओ। हम human beings, superhumans नही। इसलिए जो है वो ज्यादा के चक्कर में कहीं आधा न हो जाए। इसलिए अच्छा होगा, एक बार में एक habit को develop करो।

3. Habits को sufficient time दो। New habits को कम से कम 66 दिन दो। फिर उसके बाद, आप उसे और time देकर अधिक strong बना सकते हो। या फिर अपना time किसी नई habit को develop करने में लगा सकते हो।

The One Thing
Willpower is Always on Will-Call

इंसान में हमेशा willpower यानी इच्छाशक्ति होना जरूरी है। यह भी एक झूठ है। फोन की बैटरी की तरह, इंसान की bodypower और willpower भी use होने के बाद खत्म हो जाती है। बैटरी कम हो जाने के बाद, हम फिर से power को recharge करते हैं। आराम करके, relax करके। ताकि हम फिर से, काम कर सके।

हम जब सोकर उठते हैं। तो हमारी bodypower और willpower पूरी तरह से charge हो जाती है। फिर ये धीरे-धीरे कम होती चली जाती है। इसलिए हमको, अपने जरूरी काम सुबह के समय ही कर लेने चाहिए। एक बार जरूरी काम खत्म हो जाए। तो हम tension free हो जाते हैं।

The One Thing
A Balanced Life

   जिंदगी में balance बनाकर रखना चाहिए और सभी चीजों को बराबर time देना चाहिए। यह भी गलत और झूठ है। तीन बच्चों के साथ, full time job और खुद का business start करने के सपने के साथ। आप balance भरी life नहीं जी सकते। यह बहुत मुश्किल है। 

कभी-कभी हम अपना पूरा time, अपनी family को दे देते हैं। क्योंकि हमारे पास, उस समय कोई जरूरी काम नहीं होता। जब हमारे पास काम ज्यादा बढ़ जाता है। तब हमें ज्यादा time अपने काम को ही देना होता है। Author कहते हैं कि आप अपना ज्यादा से ज्यादा time अपनी One Thing यानी अपने main goal को दीजिए। आपका ज्यादा time वहीं जाना चाहिए। जहां से आपको बड़े results मिल सकते हैं।

The One Thing
Big is Bad

 बड़ा सोचना बुरा होता है। इंसान को उतने ही पैर फैलाने चाहिए। जितनी उसकी चादर होती है। यह भी आखिरी झूठ है। बड़ा सोचना, बहुत अच्छी बात होती है। क्योंकि कामयाबी हासिल करने के लिए। हमें काम करने पड़ते हैं। Action लेने होते हैं। Action लेने के लिए, हमें सोचने की जरूरत पड़ती है। अगर आप छोटा सोचोगे तो एक्शन भी छोटे ही लोग हैं लोगे सन छोटे लोगे तो आपको रिजल्ट भी छोटे ही मिलेंगे।

The One Thing
The Focusing Question

 हममें से ज्यादातर लोग, यह नहीं जानते होंगे। कि उनका life purpose क्या है। वह अपनी जिंदगी में, क्या हासिल करने की कोशिश कर रहे हैं। जिस किसी ने भी एक साधारण जिंदगी से ऊपर, एक extraordinary जिंदगी जीने का सपना देखा। दुनिया भर में मशहूर होने से पहले उन्होंने जाना कि अगर हमें असाधारण जिंदगी जीनी है। तो हमें असाधारण तरीके काम में लाने होंगे। 

वह तरीका है, focusing question। जो हमें अपने आप से पूछते रहना है। वह question है, वह कौन-सी चीज है। जिसको मैं कर सकता हूं। जिसको करने के बाद, मेरे दूसरे काम करना आसान हो जाएगा। या फिर उनको करने की जरूरत ही नहीं पड़ेगी। अब एक उदाहरण से समझते हैं कि हम इस question को अपनी जिंदगी में कैसे apply कर सकते हैं। 

अपनी जिंदगी के सभी areas जैसे- Career, Finance, Learning, Relationship, Health, Happiness। इन सभी areas में एक ऐसी चीज ढूंढे। जैसे आपके बाकी दूसरे काम करना आसान हो जाए या फिर उनको करने की जरूरत ही न पड़े।

The One Thing
Live With Purpose & Priority

आपकी जिंदगी का मकसद, आपका सबसे बड़ा मार्गदर्शक होता है। जो आपको भटकने नहीं देता। सही रास्ता दिखाता है। जब आपको अपना perpose पता चल जाएगा। तब आपको यह भी पता चल जाएगा। आप अपनी जिंदगी में क्या चाहते हैं। आपके लिए क्या important है। आप जिंदगी में कहां जाना चाहते हैं।

 मकसद पता चल जाने के बाद, आपको उस मकसद की priority को set करना है। Priority को set करने के बाद, आपको पता चलेगा कि आपको अपने मकसद को पूरा करने के लिए। आज, कल, अगले हफ्ते, अगले महीने, अगले साल क्या करना चाहिए। 

सबसे आखरी में आपके पास right now goal का question आएगा। कौन-सी एक चीज है। जिसको मैं अभी कर सकता हूं। अपने goal को हासिल करने के लिए।

The Four Thieves of Productivity

 यह Productivity से संबंधित 4 चोर है। जो आपका समय चुरा लेते हैं। अपने गोल को प्राप्त करने के लिए इनसे आपको हर हाल में दूरी बनाकर रखनी है।

1.Inability to Say “No” वह काम या वह लोग। जिनको आप किसी न किसी वजह से, न नहीं कह पाते। कभी न कभी ऐसा भी होता है। हम अपना कोई important काम कर रहे होते हैं। कोई urgent काम, बिन बुलाए मेहमान की तरह आ जाता है। या फिर हमारा कोई मिलने वाला, हमें कोई काम बता देता है।

हम उसको न नहीं कह पाते। यह आपकी जिम्मेदारी नहीं है। Author कहते हैं कि आपकी जिम्मेदारी, सिर्फ एक काम को हां कहने की है। वह काम है, आपकी One Thing। अपनी One thing को हां कहिए। बाकी सभी कामों को न कह दीजिए। जब तक आपकी One Thing पूरी न हो जाए।

2. Fear of Chaos. Chaos मतलब गड़बड़ी, disbalance, confusion। जैसा कि अभी आपको बताया। अपनी One Thing के अलावा, दूसरे सभी कामों को न कहिए। जो जरूरी नहीं है। उनको न बोलने के बाद, आपकी जिंदगी में थोड़ी-सी गड़बड़ी आ जाएगी। Disbalance हो जाएगी। लेकिन आपको इससे डरना नहीं है। इसके साथ comfortable होना है। इसके साथ, जीने की आदत डालनी है। क्योंकि जो भी हो। वह काम जरूरी नहीं थे।

वह काम urgent और important दिख रहे थे। लेकिन वह नहीं थे। उनसे हुई गड़बड़ी, आजकल तक ही matter करेगी। लेकिन आप अपनी One thing पर काम छोड़कर। किसी दूसरे काम पर लग जाएंगे। तो यह lifetime तक आपको effect करेगा। 

3. Poor Health Habits बुरी आदतें, जो आपके स्वास्थ्य को खराब करती है। आपके पास चाहे बंदूक हो, तलवार हो, चाकू हो। अगर आपकी हालत अच्छी नहीं है। यानी हेल्थ अच्छी नहीं है। तो एक निहत्था इंसान भी आपको हराकर चला जाएगा। अगर आपकी health खराब ही रहेगी। तो आपका पैसा और समय बीमारियों से लड़ने में ही चला जाएगा।

आपको अपने मकसद पर, काम करने तक का मौका नहीं मिलेगा। इसलिए अच्छा खाना खाईये, अच्छी नींद लीजिए। Exercise कीजिए, meditation कीजिए। वह हर काम कीजिए,जो आपको healthy बनाए रख सकता है।

4.Environment Doesn’t Support Your Goals ऐसा माहौल, जो आपके लक्ष्य के लिए, बाधा बन रहा है। ऐसे माहौल से दूर रहें। मेरे साथ भी कभी-कभी ऐसा होता है। जब मैं ब्लॉक लिख रहा होता हूं। तो आस-पड़ोस में अधिक शोर होने लगता है। कभी सर भारी होने लगता है। कभी घर के बच्चे ही शांत नहीं बढ़ते। जिसके कारण कुछ घंटे का काम, कई घंटों तक करना पड़ता है।

इस तरह मेरे आस-पास का माहौल मेरी One thing को support नहीं करता। इसके लिए मुझे जल्द से जल्द कोई उपाय ढूंढना होगा। अगर आपके आसपास का माहौल भी, आपके सपनों, आपके लक्ष्य को support नहीं करता। तो ऐसे माहौल को change कीजिए। इसमें बदलाव लाइए। ताकि आप अपना काम समय पर और अच्छे से खत्म कर सकें।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.