Advertisements

The Law of Human Nature | Book Summary | इंसान के असली चेहरे को पहचाने

The Law of Human Nature Book summary | The Law of Human Nature by Robert Greene | इंसानी फितरत को समझने का तरीका | मुखौटे के पीछे छिपे असली चेहरे को पहचाने | Keys to Human Nature | The Law of Human Nature Book Review | How to Master Your Emotion | एक शक्तिशाली इंसान कैसे बने | लोगों के नेचर को कैसे जाने। 

The Law of Human Nature Book Summary
Advertisements

The Law of Human Nature by Robert Greene
Book Summary

इंसानों ने अब तक काफी चीजों के बारे में project करना सीख लिया है। मौसम का पता हम लगा लेते हैं। कंपनी में कितना loss या profit होगा। शेयर मार्केट के बारे में, बहुत सारी चीजों के बारे में, हम पता लगाते ही रहते हैं। सीखते ही रहते हैं। इंसान की कुछ ऐसी कमजोरियां हैं। जो  वह avoid नहीं कर पाता है। हम लोग short minded होते हैं। लालची होते हैं। छोटी-छोटी बातों पर गुस्सा आ जाता है।

    हम इंसानों का जो दिमाग है। वह बदलता रहता है। हमारे अंदर Self-defeating जैसी weakness होती हैं। तो हम अगर, अपनी कमजोरियों या loss को अच्छे से समझ जाएं। तो हम अपनी life को काफी बेहतर बना सकते हैं। तब न तो कोई हमारा फायदा उठा पाएगा। न ही हमें कोई अपने जाल में फंसा सकता है। कई बार हमारी खुद की कमजोरियां मुसीबत में डाल देती है। लेकिन हम अगर अपनी कमजोरियों पर काबू पा लेते हैं। तो हम खुद को एक बेहतर इंसान बना सकते है। एक बेहतर life को enjoy कर सकते हैं।

      किसी भी इंसान को देखकर, हम ये राय बनाने लगते हैं। कि वह इंसान कैसा है। क्या सोच रहा है। जब हम किसी को समझने की कोशिश करते हैं। तो हम अक्सर बहुत बड़ी गलती करते हैं। वो गलती यह होती है कि हम जैसे होते हैं। वैसे ही दूसरे लोगों समझते हैं। एक चोर को, सभी लोग चोर जैसे ही दिखते हैं। एक झूठे इंसान को, सभी लोग झूठे ही लगते हैं। उसी तरह एक innocent इंसान को, सभी लोग अच्छे लगते हैं। बिल्कुल इसी तरह ही, हम जैसे होते हैं। हम दूसरे के बारे में, वैसे ही सोचते हैं। आगे हम इसी बारे में जानेंगे कि कैसे हम लोगों को समझ सके। इसको समझने के लिए, हम Robert Greene की लिखी हुई। Law of Human Nature की मदद लेंगे। 

     Author ने इस book में 18 Laws बताए हैं। इन law को जानकर, आप किसी भी इंसान के बारे में, बहुत अच्छे से जान सकते हो। उनके emotional behavior को बहुत अच्छे से पढ़ सकते हो। यह सभी Law एक इंसान के mental, emotional, उनकी life के ऊपर बनाए गए है।

Depression, happiness, डर, गुस्सा, जलन हम सभी humans का एक darkside होता है। यह चीजें ही, हमें अंदर से बुरा बनाती है। इन चीजों की वजह से, हम अक्सर अच्छे इंसान नहीं बन पाते। हम अक्सर अपने emotions पर काबू नहीं रख पाते। जिसकी वजह से, हम अक्सर fail और sad रहते हैं। इसलिए Author ने अपने emotions को जीतने के लिए, हमें first Law बताया है।

Law of Irrationality

हममें से ज्यादातर लोग logical decision नहीं लेते हैं। हम सामान्यतया irrational decision लेते हैं। हम कोई भी decision लेते वक्त, long term के बारे में कभी नहीं सोचते। हम अक्सर उसी चीज में लग जाते हैं। जो चीज trend करती है। इसी irrational decision की वजह से, हमें आगे जाकर बहुत परेशानी उठानी पड़ती है। हम अधिकतर failure का सामना करते हैं।

हम अपने decision से ज्यादा, दूसरों के opinion पर focus करते हैं। हम अपने logical thinking को छोड़कर, दूसरों के irrational opinion पर ज्यादा ध्यान देते हैं। जिसके कारण हमें life में failure का सामना करना पड़ता है। ठीक ऐसे ही, जब बात किसी इंसान को जानने की होती है। तो हम उसे बिना जाने, दूसरों के opinion सुनकर। उस इंसान के बारे में राय बनाते हैं।

अगर हमसे किसी ने हमसे कहा कि वह बुरा इंसान है। तब हम उसे बिना जाने, उसके बारे में बुरा सोचने लगेंगे। इसलिए author हमें, logical thinking के लिए प्रेरित करते हैं। Logical thinking, हमारे short या long term के लिए, बहुत beneficial होता है।

हम human, by nature तर्कहीन(irrational) होते हैं। इसलिए हमें चीजों और लोगों को अच्छे से समझने के लिए logical और emotional decision तर्क के साथ लेना चाहिए। जब इस Law को, हम अच्छे से use करेंगे। तब हम किसी को भी, बहुत अच्छे से समझ पाएंगे।

Law of Narcissism

  खुद के अंदर confidence होना बहुत ही अच्छी बात है। लेकिन जब यही confidence, overconfidence हो जाता है। तो वही चीज हमारे लिए बहुत बुरी होती है। Author बताते हैं कि लोगों के पास जितना ज्यादा होता है। उनका ego और attitude उतना ही ज्यादा होता है।

वह लोग अपने से बड़े लोगों की बहुत respect करते हैं। लेकिन जब बात अपने से छोटे लोगों की होती है। तो वह उन्हें जानवरों की तरह समझते हैं। उनसे अच्छे से behave नहीं करते। उनकी respect नहीं करते। उनके according, उनसे छोटे लोग, सिर्फ उनके काम के लिए बने हैं। यह बात सच भी है। हममें से ज्यादातर लोग ऐसे होते हैं। कि वो अपने से छोटे लोगों का respect नहीं करते।

उदाहरण के लिए, अगर आप अपने class के एक smart बच्चे हैं। तो आपसे केवल उन्हीं से दोस्ती करोगे। उनके साथ ही रहना पसंद करोगे। जो आप जैसे smart होंगे। आप एक weak बच्चे के साथ, कभी अपना time spend नहीं करोगे।

आप उस weak बच्चे को एक low grade student समझोगे। उसकी respect नहीं करोगे। यही होता है- Narcissism। लोगों को अपना गुलाम समझना। हमें इसको बदलने के लिए, अपने अंदर चार चीजें build करनी होंगी।

1. The Amphetic Attitude– दूसरे लोगों के नजरियों को जानना। उन्हें अच्छे से observe करके उनके actions को analyse करना।

2. Visceral Attitude– लोगों के behaviour और उनके body language पर अच्छे से ध्यान देना। लोगों की body language जानकर। हम उनके बारे में, बहुत कुछ जान सकते हैं।

3. Analytic Empathy– अगर आप किसी को अच्छे से जानना चाहते हैं। तो उनके past को जाने। उनका past कैसा था। उनकी family का environment, जिससे आप उस person को अच्छे से समझ पाओगे।

4. Empathetic Skill- हम जितने ज्यादा लोगों से मिलेंगे। हम उतना ज्यादा बेहतर होंगे। ज्यादा लोगों से मिलने का मतलब, बहुत ज्यादा knowledge। उनके बारे में और अच्छी information।

इन चार rules को follow करें। तो आप किसी भी इंसान को, बहुत अच्छे से समझ पाएंगे।

Law of Role Playing

हम बचपन से ही, बहुत अच्छे actors होते हैं। किसी को भी झूठ बोलने में और अपने facial expressions से अपनी बातें बताने में। हम बहुत smart होते हैं। एक छोटा बच्चा रोने से यह बताता है। कि उसे खाने की जरूरत है। किसी को gift मिलने से, उसके चेहरे पर एक smile आ जाती है। वह indicate करता है कि वह कितना खुश है।

हम बचपन से ही, हर एक situation के लिए अलग-अलग expression बनाते आ रहे हैं। जैसे जैसे हम बड़े हो रहे हैं। इसी चीज को, हमारे subconscious mind ने fix कर लिया है। हमें ये पता होता है कि हमें किस situation में कैसे facial expression और कैसे इसे react करना है। हम सभी इंसानों के दो face होते हैं। एक face जो हम दुनिया को दिखाते हैं। दूसरा face जो सिर्फ हमें पता होता है।

किसी भी इंसान को अच्छे से जानने के लिए। आपको mask के पीछे छिपे हुए, दूसरे इंसान को जाना होगा। अगर आप mask के पीछे छिपे हुए, उस इंसान के असली intention को जान जाओगे। तो आप उसके बारे में, बहुत कुछ जान सकते हो। Author बताते हैं कि किसी भी इंसान के mask के पीछे के इंसान को जानने का जो सबसे अच्छा तरीका है।

वह इंसान की body language को अच्छे से rate करना है। क्योंकि हम अक्सर झूठ बोलते हैं। लेकिन हमारी body language कभी झूठ नहीं बोलती। अगर आप लोगों के body language को पढ़ना सीख जाओगे। तो आप किसी भी इंसान को, बहुत अच्छे से जान जाओगे। उसके nature और उसके behavior को बहुत अच्छे से पहचान पाओगे।

Law of Compulsive Behaviour

किसी भी इंसान को समझने के लिए। हमें उनके character को बहुत अच्छे से समझना होगा। एक इंसान का character उसके बारे में बहुत कुछ बताता है। हमारा character हमारे बचपन से बनता है। उसमें हमारे पेरेंट्स का बहुत बड़ा हाथ होता है। एक अच्छा character, अच्छी parenting, knowledge, mentor  और भी बहुत कुछ से बनता है। हम जितना अच्छा, जितना ज्यादा सीखेंगे। हमारे लिए, वह उतना ही अच्छा होगा। किसी से भी मिलकर, हम उनके behavior को देखकर, उनके बारे में बहुत कुछ बता सकते हैं।

एक अच्छा और mature behavior एक इंसान को, दूसरे से अलग बनाता है। उसे एक अच्छा इंसान बनाता है। लोगों के अच्छे-बुरे image के बजाय। उनके character को देखना चाहिए। हम अक्सर वही करते हैं। जो हमारे character में होता है। एक झूठ बोलने वाला इंसान अक्सर झूठ बोलेगा। क्योंकि झूठ बोलना उसके character में होता है ठीक वैसे ही आपको दूसरों को समझने के लिए उनके कैरेक्टर को अच्छे से जाना होगा उनके एक्शन उनके कैरेक्टर के बारे में बहुत कुछ बताएंगे इसलिए आप उनके कैरेक्टर को जानिए।

Law of Covetousness

हम सभी के अपने-अपने desires होते हैं। कुछ लोगों के desiare होते हैं, नई चीजों को सीखना। कई लोगों के desire होते हैं, नई चीजें ढूंढना। कुछ लोगों को, नई चीजें करना। बहुत पसंद होता है। ठीक वैसे ही, हम सभी के अपने-अपने desires होते हैं। इसलिए author बताते हैं कि अगर हम लोगों के desire को जानेंगे। तो उन्हें और अच्छे से समझ सकते हैं। 

       एक अच्छे इंसान के, अच्छे ही desire होंगे। जबकि एक बुरे इंसान के, बुरे desire होंगे। जब आपको लोगों के बुरे desire के बारे में पता लगे। तो आप उनसे दूरी बना ले। यह चीजें आपके लिए बहुत अच्छी होंगी।  आज हम अपने आसपास जितनी भी अच्छी और बुरी चीजें देखते हैं। वह सब हमारे ही, desire  की वजह से हैं। Microsoft व Apple जैसी कंपनी भी किसी का desire था। इसी वजह से, वह आज बन पाई है। एक आतंकवादी संगठन भी, किसी person का desire था। जो आज एक आतंकवादी समूह बन पाया। इसलिए आप गौर करें कि लोगों की क्या desires हैं। 

इससे आप उनके बारे में, बहुत अच्छे से जान पाओगे।  यह सभी चीजें, आपके काम तभी आएंगी। जब आप ज्यादा से ज्यादा लोगों से बातें करेंगे। उन्हें अच्छे से observe करोगे। तभी आप इन law का use करके। किसी भी इंसान को, अच्छे से समझने में मदद मिलेगी। हममे से सभी एक-दूसरे से अलग होते है। इसलिए आप भी कोशिश करो।  आप अपनी जिंदगी में ज्यादा से ज्यादा लोगों के सम्पर्क में रहो। उनसे अपनी बातें आदान-प्रदान करो। उन्हें समझने की कोशिश करो।

The Law of Envy

  हमे अपने अहंकार से बचना चाहिए। हम सभी अक्सर, अपने आपको दूसरों से compare करते है। हम हमेंशा दूसरों के status, respect और attention को, खुद के साथ तुलना करते रहते हैं। कुछ लोग अपने अच्छे कामों की वजह से अच्छा बनते जाते हैं। वहीं दूसरे लोगों के लिए, यह जलन का कारण बन जाता है।

कोई भी व्यक्ति, दूसरे के प्रति अपनी जलन या envy को accept नहीं करता है। इससे पहले कि envy हमारे लिए, toxic यानी हानिकारक हो जाए। हमें envy के शुरुआती symptoms पर जरूर ध्यान देना चाहिए। अगर हम इस पर शुरुआत से ही ध्यान रखेगे। तो हम अपनी इस बुराई को जड़ से खत्म कर सकते हैं। आप अपनी क्षमताओं को खुद से पहचाने। न कि किसी दूसरे से तुलना करके।

ऐसे लोगों को समझें। जो आप से कम सफल है। जब हम किसी ऐसे व्यक्ति से पहली बार मिलते हैं। तो उनकी आंखों में जलन साफ-साफ देख सकते हैं। ऐसे लोगों की तारीफ बनावटी और खोखली होती है।

ऐसे दोस्त हमेशा आपकी पीठ पीछे आपकी बुराई करते हैं। दोस्ती का फायदा उठाकर, आपकी feelings को चोट पहुंचाते हैं। मानव स्वभाव के अनुरूप, हम भी दावा करते है। हमें किसी से जलन महसूस नहीं होती। लेकिन यह वास्तविकता नहीं है। मानव स्वभाव के अनुसार दूसरों से तुलना करना लगभग असंभव है।

अगर कुछ बातों पर ध्यान रखा जाए। तो इस बुरी आदत से छुटकारा पाया जा सकता है। हमे कोशिश करनी चाहिए। दूसरों से जलने की जगह, दूसरों की प्रशंसा करने पर बल दें। दूसरों की खुशी में शामिल हो। उनकी सफलता के लिए, उन्हें बधाई दें। यह विश्वास रखें कि आप अपने दम पर successful हो सकते हैं। आगे बढ़ सकते हैं।

The Law Grandiosity (भव्यता)

  हमे अपनी सीमा को पहचानना चाहिए। Author कहते हैं कि हम सभी लोगों के अंदर, खुद के बारे में हमेशा ऊंची सोच होती है। जब हमारे ऐसे विचार reality से अलग हो जाते हैं। तो हम बनावटी होते जाते हैं। हम अपने आपको महान समझने लगते हैं। अक्सर एक छोटी-सी Success भी लोगों को, खतरनाक level तक ले जाती है।

हम overconfidence में आकर समझने लगते हैं। कि हमारे पास golden touch है। जिसकी वजह से, हमें success मिल रही है। लेकिन reality में, हमारी सक्सेस के पीछे luck भी हो सकता है।

  हम कभी भी दूसरों की मेहनत पर, उनको credit नहीं देते हैं। यही कारण है कि हमारी सफलता बहुत देर तक नहीं टिकती। हमें अपने plan की सफलता पर जरूरत से ज्यादा विश्वास होना। Criticism या आलोचना होने पर गुस्सा आना। किसी भी तरह के अधिकार को नापसंद करना। एक दिखावटी इंसान की पहचान है। इसे मूल रूप से खत्म करने के लिए, real होकर सोचना चाहिए। हमे अपनी success को कभी भी, अपनी greatness नही समझना चाहिए।

एक दिखावटी इंसान, जिसमें talent और energy होती है। वह leader तो हो सकता है। लेकिन वह स्वयं व दुसरो के लिए खतरनाक भी हो सकता है। दिखावटी इंसान कभी भी वास्तविक होकर नहीं सोचते। वह ऐसे सोचते हैं। जैसे महान होना, उनकी किस्मत में लिखा है।

Grandiosity यानी बड़ा बनने की इच्छा। एक ऐसी energy है। जो हम सभी में होती है। यह हमारे पास जो है। उससे अधिक पाने के लिए और अपनी पहचान बनाने के लिए। हमें encourage करती है। समस्या grandiosity की energy में नहीं है। समस्या उसमे है कि हम इसे किस तरह से use करते हैं।

हमे इस energy का इस्तेमाल अपनी problems को solve करने में करना चाहिए। अपनी relationship को बेहतर बनाने में करना चाहिए। न कि खुद को दूसरों से ऊंचा दिखाने में करना चाहिए।

The Law of Death Denial

अपनी मृत्यु को ध्यान में रखें। हममें से ज्यादातर लोग, अपनी मौत के विचार को avoid करते हैं। मौत की बात सोचकर डर जाते हैं। लेकिन इसकी जगह मौत की सच्चाई, हमेशा हमारे दिमाग में होनी चाहिए। यह life एक दिन खत्म हो जाएगी। इसकी समझ ही हमारी जिंदगी को, एक purpose देती है। अपने goals की तरफ, काम करने का एहसास दिलाती है। यह हमें इस बात की समझ देती है।

हमारी छोटी सी जिंदगी में, क्या मायने रखता है और क्या नहीं। कुछ लोग दूसरों से अपने को अलग करके, महान महसूस करते हैं। लेकिन हमें देखना चाहिए। सब की मौत होती है। यह सच्चाई हम सभी को समान बनाती है।

     ज्यादातर इंसानों के लिए, मौत एक डरावनी चीज है। हम केवल मौत से जुड़े दुख और दर्द को देख पाते हैं। लेकिन हमें जरूरत है कि हम life की इस सच्चाई को accept करें।

इस opportunity का उपयोग, कुछ नया सीखने और खुद को मजबूत बनाने में करें। मौत की सच्चाई को accept करके। हम अपनी life ज्यादा खुलकर और tension free होकर जी सकते हैं। इससे हमारा काम भी बेहतर हो जाता। हमारे relationship भी अच्छे हो जाते हैं।

 

Change Your Circumstances by Changing Your Attitude

  Author कहते हैं, अपना रवैया बदल कर, अपनी परिस्थितियां बदले। हम सभी दुनिया को, अपनी तरह से देखते हैं। हर किसी का दुनिया को देखने का, नजरिया अलग होता है। यह हमारा attitude होता है। यह decide करता है।  हमारी life में हमारे साथ, क्या होगा। 

       अगर आपका रवैया डर का है। तो हर चीज आपको नेगेटिव नजर आएगी। आप अपनी गलती के लिए दूसरों को blame करेंगे। यदि हम doubt महसूस करते हैं। तो हमारी presence में दूसरे भी, ऐसा भी experience करते हैं। हम अपना रवैया positive बता कर। अपने problem से सीख सकते हैं।

      Opportunity को create  कर सकते हैं।  हमें अपनी willpower की limit को जानना चाहिए। देखना चाहिए कि वह हमें कितना दूर ले जाती है। हम अक्सर अपने बचपन की बुरी घटनाओं और डर को जीवन भर साथ लेकर चलते हैं।

      इसी के चलते, हम एक negative attitude बना लेते हैं। हम सभी को यह राय बनाना पसंद होता है। हम दुनिया की सभी सभी सच्चाईयों को भली-भाँति जानते हैं। अन्य लोगों की तरह ही, हम भी दुनिया को देखते हैं। लेकिन सच्चाई इसके उलट होती है। किन्ही भी दो व्यक्ति का नजरिया एक नेता नहीं हो सकता।

        Carl jung का मानना है। हमारा attitude ही, हमारे brain के काम करने और react करने की क्षमता होती है। Negative attitude वाले लोग बचपन से ही, दुनिया को negatively देखते हैं। उन्हें लगता है कि कोई भी उनसे प्यार नहीं करता। वह सिर्फ Criticism और धोखे की उम्मीद करते हैं। अपने खुद के नजरिए को बडा करें। लोगों के behavior के पीछे के कारणों को जानने की कोशिश करें। खुद के जीवन का एक purpose बनाएं। उसे पाने के लिए अपनी limitations से आगे बढ़ जाए।

        इन सभी Laws का use मैं अपनी life में भी करता हूं। जिससे मुझे अपनी life को और अच्छे से जीने का। लोगों को समझने का तरीका पता चल चुका है। इसलिए आप भी इन law का अपनी life में use करिए। एक अच्छे इंसान बनिये।

 

2 Comments

    1. Hey Sarvesh, Thank you for your kind words. I really appreciate your feedback.
      Keep checking our site, we use to post every Tuesday and Saturday.
      Your appreciation boasts me to write more on such content.

      Keep encouraging.
      Thanks:)

Leave a Reply

Your email address will not be published.