Sukesh Chandrashekhar – Conman Biography in Hindi | देश के सबसे बड़े ठग पूरी कहानी

Sukesh Chandrashekhar Biography in Hindi | ₹200 करोड़ की धोखाधड़ी करने वाला महाठग | देश के सबसे बड़े ठग पूरी कहानी। सुकेश के चक्रव्यूह में फंसी बॉलीवुड की अभिनेत्रियां | कौन है सुकेश चंद्रशेखर | आप के मंत्री ने ठग को ठागा | सत्येंद्र जैन ने ली ₹10 करोड़ की प्रोटेक्शन मनी | The Greatest Indian Thag Biography in Hindi | Who is Sukesh Chandrashekhar | Story of Conman Sukesh | Sukesh Chandrashekhar Real Story in Hindi | Sukesh Chandrashekhar Lifestyle, Life Story, Income and Net-Worth| Sukesh Chandrashekhar Wikipedia | Sukesh Chandrashekhar ka Jeevan Parichay| Kon hai Sukesh Chandrashekhar

Sukesh Chandrashekhar - The Greatest Indian Thug
Biography in Hindi

ऐसा कोई सगा नहीं, जिसको इसने ठगा नहीं

        अगर हिंदुस्तान का असली नटवरलाल जिंदा होता है। तो निश्चित रूप से, आज के इस ताजा नटवरलाल से, उसे जलन जरूर होती। असली नटवरलाल ने ताजमहल, लाल किला, पटना रेलवे स्टेशन बेचा था। लेकिन आज के नटवरलाल ने बिना कुछ बेचे और खरीदें। इतने पैसे इकट्ठा कर लिए है।

     उस पैसे को खर्च करने के लिए, उसे न सिर्फ लोगों को पैसे बांटने पड़े। यहाँ तक गिफ्ट के नाम पर अरबी घोड़े और पारसी बिल्ली तक बटवा दी। लेकिन यह बात जेहन में बैठा लीजिए। कि यह कहानी किसी फिल्म की नहीं है। बल्कि इतना जरूर है कि यह किसी फिल्म से कम भी नहीं। 

     देश के इतिहास में शायद ही, कोई ऐसा नटवरलाल रहा हो। जिसने जेल में दिन काटने के बजाय, हर रोज नोट बांटे हो। वह भी लाखों करोड़ों रुपए। इसने  ठगने के नाम पर, किसी को बख्शा भी नहीं। चाहे वह देश के गृहमंत्री अमित शाह हो। किसी समय कानून मंत्री रहे, रवि शंकर प्रसाद हो। देश के कानून सचिव हो। पीएमओ कार्यालय हो। प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव हो। 

      या फिर सत्ता के गलियारों से दूर बॉलीवुड के सितारे ही क्यों न हो। सिर्फ एक बार इसके बारे में जान लीजिए। अंदाज अपने आप बयां हो जाएगा। नाम सुकेश चंद्रशेखर, पता तिहाड़ जेल दिल्ली। पिछले कई सालों से, यह इसी पते पर रह रहा है। जहां 30 कैदियों वाला पूरा बैरक इसी के नाम पर है।

     जेल में लगे सीसीटीवी कैमरो की औकात नहीं। जो इसकी तरफ आंख उठाकर देखें। ऐसी कोई सुविधा नहीं है। जो किसी फाइव स्टार होटल की तरह मौजूद न हो। जो इन कैमरों से बहुत दूर है। ताकि यह नटवरलाल अपने खेल को जारी रख सके। इसके लिए जेल के जेलर सहित, ज्यादातर स्टॉफ को हर महीने ₹1 करोड़ रिश्वत के तौर पर दिया करता था।

Sukesh Chandrashekhar Real Story in Hindi

Sukesh Chandrashekhar - The Greatest Indian Thag
An Introduction

 

आज का नटवरलाल 

सुकेश चंद्रशेखर 

एक नजर

वास्तविक नाम (Real

Name)

सुकेश चंद्रशेखर

अन्य नाम

(Other

Names)

बालाजी, नटवरलाल

जन्म-तिथि

(Date of

Birth)

1989

जन्म-स्थान

(Birth of

Place)

बेंगलुरू कर्नाटका

पिता

(Father)

विजयन चंद्रशेखर

माता

(Mother)

माला चंद्रशेखर

स्कूल

(School)

बिशप कॉटन बॉयज स्कूल, बेंगलुरु

कॉलेज

(Collage)

मदुरै विश्वविद्यालय

पत्नी (Wife)

लीना मारिया पॉल (अभिनेत्री) 2015

राष्ट्रीयता

(Nationality)

भारतीय

शारीरिक

संरचना

(Physical

Appearance)

• लंबाई – 178 सेंटीमीटर

• आंखों का रंग – काला

• बालों का रंग – काला

शौक

(Hobbies)

गायन

व्यवसाय

(Profession)

बिजनेसमैन व ठगी

प्रसिद्धि

(Famous

For)

● जैकलिन फर्नांडीस (अभिनेत्री) के साथ वायरल फोटो 

● 200 करोड़ रुपए की मनी लांड्रिंग का मुख्य आरोपी

●  सत्येंद्र जैन (नेता- आप) से संबंध व रिश्वत का मामला।

नेट-वर्थ (Net-Worth)

लगभग ₹800 करोड़  अनुमानित

सुकेश चन्द्र शेखर का प्रारंभिक जीवन
Early Life of Sukesh
Chandrashekhar

 सुकेश का जन्म 1989 में बेंगलुरु में हुआ था। इनकी परिवारिक आर्थिक स्थिति बहुत अच्छी नहीं थी। इनके पिताजी विजयत चंद्रशेखर पेशे से एक रबर के ठेकेदार थे। इसके साथ ही पार्ट टाइम में मकैनिक का काम किया करते थे। सुकेश की मां माला चंद्रशेखर एक ग्रहणी थी।

      सुकेश बचपन से ही शरारती व लड़ाई झगड़े में माहिर था। उसे शनों-शौकत का जीवन जीना अत्यधिक पसंद था। उसकी शिक्षा-दीक्षा बेंगलुरु के बिशप कॉटन बॉयज स्कूल से हुई। जो बेंगलुरु का एक महंगा और प्रतिष्ठित स्कूल हुआ करता था।

       सुकेश के पिता विजयन, उसे अपनी पुरानी स्कूटर से स्कूल छोड़ने जाया करते थे। जबकि उसके सभी साथी महंगी-महंगी  कारों से स्कूल आया करते थे। जिन्हें देखकर उसमें, उनके प्रति ईर्ष्या की भावना जन्म लेती गई। उसने उनकी बराबरी करने के लिए, गलत रास्ता अपनाना शुरू कर दिया।

        सुकेश ने इंटरमीडिएट तक की पढ़ाई बिशप कॉटन बॉयज स्कूल की। इसके बाद 17 वर्ष की आयु में, वह अपराध की दुनिया में आ गया।

सुकेश चंद्रशेखर का अपराध जगत में प्रवेश
Sukesh Chandrashekhar's entrance into the world of crime

  सुकेश चंद्रशेखर को अपराध जगत में, बालाजी के नाम से भी जाना जाता है। जिसने बहुत सारे लोगों को नौकरी का झांसा देकर ठगा। 2006 में सुकेश ने नाबालिक होते हुए। अपनी पहली ठगी को अंजाम दिया। 

        उसने कर्नाटक के पुलिस कमिश्नर के फर्जी हस्ताक्षर, एक लेटर पर कर लिए। जिस लेटर पर लिखा हुआ था। की सुकेश को पूरे कर्नाटका में कहीं भी कार व बाइक चलाने की इजाजत दी जाती है।

     सुकेश को पहली बार बंगलुरु डेवलपमेंट अथॉरिटी में, एक घोटाले को लेकर गिरफ्तार किया गया था। वह राजनेताओं को अपना रिश्तेदार बताकर, उन्हें ठगी का शिकार बनाया करता था।

       2016 तक सुकेश देशभर के बहुत से लोगों को कई सौ करोड़ का चुना लगा चुका था। 27 साल की उम्र तक पहुंचते-पहुंचते सुकेश चंद्रशेखर की गिनती, देश के कई बड़े चालबाजो में होने लगी।

ठगी में सुकेश की सहभागी बनी लीना मारिया
Leena Maria - Sukesh's
Partner in the Fraud

  सुकेश चंद्रशेखर और लीना मारिया, ये दोनों पिछले कई सालों में देश भर में कई लोगों को । कई सौ करोड़ का चूना लगा चुके थे। जिनमें कुछ राष्ट्रीय बैंक तक शामिल थे। यह दोनों लाल बत्ती या महंगी कारों में, बिजनेसमैन से लेकर सरकारी बैंक के अफसरों के मिलते थे।

      इस दौरान लीना मारिया का इस्तेमाल बेबी डॉल के रूप में होता था। 2011 में मारिया दुबई से पढ़ाई पूरी करके, मॉडलिंग की दुनिया में किस्मत आजमाने मुंबई पहुंची। जहां उसकी मुलाकात सुकेश चंद्रशेखर हुई थी। महंगी गाड़ियों में घूमना और फाइव स्टार रहन-सहन जल्द ही दोनों को करीब ले आया।

      इसके बाद सुकेश ने मारिया को कुछ मॉडलिंग के assignment दिलाये। फिर वह मारिया को अपने साथ चेन्नई ले गया। चेन्नई में मारियो को सुकेश की मदद से हीरोइन का लीड मिलने लगा। जो देखते ही देखते टॉलीवुड में मशहूर हो गई।

     बाद में, मारिया को पता चला कि सुकेश की सारी कमाई का जरिया धोखाधड़ी है। अंग्रेजी बोलने वाला सुकेश खुद को आईएएस ऑफिसर बताकर। नए-नए प्रोजेक्ट पास कराने को लेकर, बिजनेसमैन से पैसे लेता था। या फिर बैंक से लोन के बाद, पैसा हाथ आते ही, वह फरार हो जाता था। इस काम के लिए, मारिया को उसने अपना पार्टनर बना लिया।

        कहा जाता है कि चेन्नई में सुकेश और मारिया ने मिलकर, सैकड़ों लोगों को करोड़ों का चूना लगाया। इनका मामला सामने तब आया। जब सुकेश ने मारिया की मदद से चेन्नई के केनरा बैंक से 19 करोड़ 75 लाख का लोन लिया। फिर रकम मिलते ही गायब हो गए।

      सुकेश ने बैंक में खुद को आईएएस बताया था। बैंक की शिकायत पर, पुलिस ने दोनों की तलाश शुरू की। पुलिस से बचने के लिए, दोनों दिल्ली में एक फार्महाउस में रहने लगे। जहाँ ₹4 लाख महीने किराए पर, दोनों इस फार्महाउस में लिविंग रिलेशनशिप में रहे थे।

सुकेश चंद्रशेखर कैसे पहुंचा तिहाड़ जेल
Sukesh Chandrashekhar - Journey to Tihar Jail

  AIADMK का सिंबल दोबारा हासिल करने के लिए, 50 करोड़ रुपए में शशि कला के भतीजे दिनाकरण से डील की। इस डील करने का आरोपी सुकेश चंद्रशेखरन दिल्ली पुलिस की गिरफ्त में आया। 

    उसी दौरान, दिल्ली पुलिस ने सुकेश के पास से 1.5 करोड़ रुपए के साथ ही, कई महंगी कारें भी जप्त की थी। जिनमें बीएमडब्ल्यू व  मर्सिडीज कारें भी शामिल थी।

सुकेश चंद्रशेखर के जाल में फँसी कई बॉलीवुड
अभिनेत्रियां
How Sukesh Chandrashekhar trapped Bollywood actresses

सुकेश चंद्रशेखर का बॉलीवुड की अभिनेत्रियों के साथ खास connection है। नोरा फतेही और जैकलीन फर्नांडिस के अलावा मशहूर अभिनेत्रियों के साथ खास connection था। सुकेश ने शिल्पा शेट्टी को भी ठगने की कोशिश की थी। यह खुलासा उसने ईडी अधिकारियों के सामने किया था।

       उसने यह भी बताया था कि कैसे उसने ठगी के पैसों को नोरा फतेही और जैकलीन फर्नांडिस पर खर्च किए थे। इन दोनों अभिनेत्रियों से भी एजेंसी ने पूछताछ की थी। जिसमें पता चला कि जैकलिन के साथ, सुकेश के काफी करीबी संबंध थे। वहीं उसने जैकलिन के घरवालों पर भी पैसे खर्च किए थे।

       नोरा फतेही ने बताया कि उन्हें एक इवेंट में बुलाया गया था। उसी दौरान उन्हें  महंगे तोहफे दिए गए थे। जिसमें महंगी कार और आईफोन भी शामिल थे। सुकेश ने जांच में, न सिर्फ शिल्पा शेट्टी का नाम लिया। बल्कि श्रद्धा कपूर का भी नाम लिया।

     उसने यह भी खुलासा किया कि जब ड्रग्स मामले में, फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े लोगों को ईडी बुला रही थी। तब उसने श्रद्धा की मदद की थी। नोरा फतेही इस पूरे मामले में, गवाह भी बनी। सुकेश चंद्रशेखर बॉलीवुड की कई अभिनेत्रियों से दोस्ती करना चाहता था।

      जिसके लिए हुआ ठगी के पैसों का इस्तेमाल कर रहा था। इस क्रम में सारा अली खान, जानवी कपूर, भूमि पेडनेकर चाहत खन्ना, सोफिया सिंह, लीपाक्षी इलाबादी भी शामिल है।

सुकेश ने 2 करोड़ किराए पर ली तिहाड़ जेल
Sukesh Chandrashekhar - Paid Money for Luxuries
in Jail

सुकेश चंद्रशेखर तिहाड़ जेल की बैरक में अकेला रहता था। जिस बैरक में 30 से 35 कैदी रह सकते थे। इतना ही नहीं, सुकेश के पास दो मोबाइल फोन थे। जिनका इस्तेमाल वह वसूली के लिए किया करता था। सुकेश सीसीटीवी पर पर्दे डालकर, जेल सुपरिटेंडेंट के कमरे में आया जाया करता था।

      उसकी बैरक में सभी सुख-सुविधाएं मौजूद थी। जिसकी कोई कैदी उम्मीद भी नहीं कर सकता। बिना रोक-टोक के, वह जेल के अधिकारियों के साथ बैठता था। उसका वसूली का काम, आसानी से चलता रहे। इसके लिए जेल के अधिकारियों को भी बड़ा कमीशन दिया जाता था। जिसके बदले में, देश-दुनिया तक फैले वसूली रैकेट को चलाने की इजाजत मिलती थी।

       सुकेश चंद्रशेखर के कहने पर, असिस्टेंट सुपरिटेंडेंट धर्म सिंह मीणा ने डिप्टी सुपरिटेंडेंट सुभाष बात्रा और सुरेंद्र बोरा को भी। अपने साथ इस रैकेट में शामिल कर लिया। जिसके बदले वह सुकेश चंद्रशेखर से हर हफ्ते ₹50 लाख लेकर, खुद के लिए और बाकी जेल अधिकारियों में बांट दिया करता था। इसका भंडाफोड़ होने के बाद, इन सभी जेल अधिकारियों को गिरफ्तार कर लिया गया।

जेल से 200 करोड़ की फिरौती का खेल
Ransom game of 200
Crore from jail

 दिल्ली की जेल में बंद सुकेश चंद्रशेखर ने, जेल के अंदर से ही ₹200 करोड़ की ठगी की। इन पैसों से उसने दिल्ली से लगभग 2200 किलोमीटर दूर, चेन्नई में समुद्र किनारे एक आलीशान बंगला खरीदा। जिसमें हर ऐशो-आराम की चीजें मौजूद थी। 

     सुकेश चंद्रशेखर एक शातिर ठग है। जिसने spoof call के जरिए, करोड़ों रुपए की ठगी कर डाली। इसी spoof call  की जांच करते-करते, दिल्ली पुलिस रोहिणी जेल में बंद सुकेश चंद्रशेखर तक जा पहुंची। फिर इसके पूरे ठगी के नेटवर्क का खुलासा हुआ।

Spoof Call Kya Hoti Hai? Spoof Call, Basically ऐसी call होती है। जहां पर call करने वाले व्यक्ति के पास, ऐसी power होती है। एक ऐसी technique होती है। जिसके जरिए वह जिस नंबर को चाहे। जिस नाम को चाहे। उसको call receive करने वाले व्यक्ति के, smartphone पर display करवा सकता है।

        रैनबैक्सी और रैलिगेयर कंपनी के पूर्व प्रमोटर्स शिविंदर सिंह की पत्नी आदित्य सिंह ने 15 जून 2021 को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल में एक शिकायत दर्ज करवाई। जिसमें आरोप लगाया गया। कि उनके पति को जेल से छुड़वाने के नाम पर, उनके साथ 200 करोड़ की धोखाधड़ी की गई। इस धोखाधड़ी का मास्टरमाइंड कोई और नहीं, बल्कि सुकेश चंद्रशेखर ही था।

     शिवेंद्र सिंह 17 अक्टूबर 2019 से EOW के तीन अलग-अलग केस में तिहाड़ जेल में बंद है। सुकेश ने शिवेंद्र को जेल से छुड़ाने के लिए, पैसों की वसूली की। सुकेश ने खुद को केंद्र सरकार में सचिव स्तर का बड़ा अफसर बताकर। आदिति को दिल्ली के एक नंबर से  कॉल किया। उसके पति की मदद का भरोसा दिलाया। आदिति सुकेश के झांसे में आ गई।

    आदिति सिंह ने उस नंबर की विश्वसनीयता की जांच करने के लिए, truecaller app पर चेक किया । तो पता चला कि यह नंबर केंद्र सरकार के एक उच्च अधिकारी का है। यह सारा fraud सुकेश चंद्रशेखर का ही था। क्योंकि किसी भी सरकारी अफसर ने आदिति सिंह को कॉल नहीं की थी।

       आदिति सिंह की FIR के मुताबिक, खुद को केंद्र सरकार का अफसर बताने वाले, इस शख्स ने भरोसा दिलाया। कि वह उनके पति की मदद करेगा। उसने कहा कि वह उनके पति को जेल से बाहर लाएगा। ताकि वह कोविड की लडाई में लोगों की मदद कर सकें। उसने आदिति को अपने जूनियर अधिकारी के साथ, सोशल मीडिया एप्प टेलीग्राम के जरिए, संपर्क में रहने को कहा।

        जिस दिन सुकेश ने आदिति सिंह को कॉल की। उसी दिन अदिति के पास एक और फोन आया। कॉल करने वाले व्यक्ति ने खुद को अनूप कुमार का जूनियर बताया। उसने दावा किया कि वह अंडर सेक्रेट्री स्तर का अधिकारी है। आदिति के मुताबिक, फेंक नंबर से सरकारी अधिकारी बनकर कॉल करने वाले लोगों ने, उनसे परिवार और संपत्ति की डिटेल मांगी।

       जिस नंबर से कॉल किया जाता था। उस पर वह कॉल नहीं कर सकती थी। इसके बाद खुद को सरकारी अफसर बताने वाले व्यक्ति ने, ₹20 करोड़ की demand की। उसने कहा, यह रुपया डोनेशन के नाम पर, हांगकांग भिजवा दें। इसके बाद लगातार रुपयों की डिमांड होती रही।

       जिसके लिए आदिति सिंह को अपने जेवरात तक बेचने पड़े। पैसे के लिए जाने वाले, प्रदीप और दीपक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। पैसे मिलते रहने पर सुकेश ने अदिति से 100 करोड़ की मांग की। पति को करवाने के लिए छुड़वाने के लिए, वह उसकी बात मानती रही।

        आदिति के मुताबिक, वह अप्रैल 2021 तक पैसे देती रही। लेकिन फिर भी उनके पति रिहा नहीं हुए। तब उन्हें शक हुआ। जिसके बाद उसने दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल में शिकायत की।

महाठग सुकेश चंद्रशेखर को AAP के मंत्री ने ठगा
Mahathug Sukesh
Chandrashekhar - Duped
by AAP minister

सुकेश चंद्रशेखर ने दिल्ली के एलजी को, गोपनीय चिट्ठी लिखकर एक बड़ा खुलासा किया। उसने तिहाड़ में प्रोडक्शन मनी के तौर पर सत्येंद्र जैन को ₹10 करोड़ देने का आरोप लगाया। सुकेश के अनुसार, जेल मंत्री सत्येंद्र जैन के पीए ने, ₹2 करोड़ महीना बतौर प्रोडक्शन मनी मांग की थी।

        सुकेश ने दावा किया कि गिरफ्तारी से पहले, आम आदमी पार्टी ने दक्षिण भारत में बड़ा पद देने के लिए ₹50 करोड़ दिए थे।  सुकेश ने यह भी दावा किया कि सत्येंद्र जैन  कई बार, उससे मिलने जेल भी गए थे। यह चिट्ठी 18 अक्टूबर को, सुकेश के द्वारा एलजी को लिखी गई थी।

       जिसके बाद एलजी ने जांच के आदेश दिए हैं। मंत्री और घोटाले के आरोप में बंद, सत्येंद्र जैन पर आरोप लगाया गया है। अरविंद केजरीवाल ने इन आरोपों से साफ इनकार किया है।

सुकेश चंद्रशेखर की लाइफ स्टाइल, इनकम व नेट-वर्थ
Sukesh Chandrashekhar - Lifestyle, Income and Net-worth

सुकेश को राजाओं जैसी जिंदगी जीने का शौक था। इसी कारण उसने ठगे गए रुपयों से, चेन्नई में एक आलीशान बांग्ला लिया। इसमें हर वह आलीशान चीज मौजूद थी। जो किसी का सपना हो सकती थी। महंगी गाड़ियों से लेकर महंगे जूते, कपड़े और सुख-सुविधाओं वाली सारी चीजें। इस बंगले के अंदर मौजूद थी। उसका यह घर किसी राजमहल से कम नहीं है। 

        इस बंगले में खड़ी कई कारों की कीमत ₹5 करोड़ से भी ज्यादा है। जिसमें Rolls-Royce की कीमत ₹7 करोड़, वैनिटी वैन की कीमत ₹5 करोड़ है। इसके अलावा लैंबोर्गिनी (₹5 करोड़), फेरारी (₹5 करोड़), बेंटले (₹3.30 करोड़), रेंज रोवर (₹2.10 करोड़), लैंड क्रूजर (₹1.5 करोड़),पोर्शे (₹70 लाख), Mercedes-Benz (₹45 लाख), टोयोटा फॉर्च्यूनर (₹31 लाख) है इन सब को मिलाकर कुल 16 कारें, इसके घर पर है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *