Advertisements

Ukraine President – Volodymyr Zelensky Biography in Hindi। जीवन-परिचय

Zelensky Biography in Hindi। Ukraine President Biography in Hindi। Volodymyr Zelensky Biography in Hindi। कॉमेडी किंग से यूक्रेन के राष्ट्रपति बनने तक का सफर। कौन है जेलेंस्की। कैसे एक कॉमेडियन, यूक्रेन का राष्ट्रपति बना। यूक्रेन के प्रेसिडेंट जेलेन्स्की की कहानी। जेलेंस्की का जीवन परिचय। जेलेंस्की की जीवनी। वोलोडिमिर जेलेंस्की का जीवन परिचय। वोलोडिमिर जेलेंस्की कौन है? रूस से पंगा लेने वाले कॉमेडियन राष्ट्रपति जेलेन्स्की। Russia – Ukraine War in Hindi। Ukraine Russia Conflict in Hindi। Who is Ukrainian President Volodymyr Zelensky? Zelensky Biography Hindi। Zelensky in Hindi। Zelensky Net Worth। Zelensky Education। Zelensky Movie, Comedy। Zelensky Family, Wife, Children। Zelensky Height, Age। Volodymyr Zelensky in Russia-Ukraine War Volodymyr। Zelensky Salary and Income

Ukraine President - Volodymyr Zelensky
Biography in Hindi
कॉमेडी किंग से यूक्रेन के राष्ट्रपति बनने तक

“मैं यूक्रेन की आजादी के लिए आखिरी सांस तक लडूंगा। मैं यहां हूं। मेरी सेना यहां है। सभी नागरिक यहां हैं। मैं अपनी सेना और नागरिकों के साथ रहकर, आजादी के लिए यूं ही लड़ता रहूंगा।” 

रूस का कहर, असहाय यूक्रेन। इस बीच यहां के राष्ट्रपति का यह जज्बा। पूरी दुनिया ने मान लिया कि वो फ्लावर नहीं, फायर है। इस बयान के जरिए। उन्होंने दुनिया के सामने, ये मिशाल पेश की। युद्ध के वक्त शासक का मूल दायित्व और कर्तव्य क्या होना चाहिए। 15 अगस्त 2021 को जब अफगानिस्तान पर तालिबान ने धावा बोल दिया था।

     तब वहां के राष्ट्रपति अशरफ गनी देश छोड़कर भाग निकले थे। उन्हें यूएई ने शरण ली थी। कुछ इसी तरह, अमेरिका ने उन्हें भी इसी तरह का offer दिया। वह चाहे तो, अपनी जान बचाने के लिए, यहां आकर शरण ले सकते है। लेकिन उन्होंने अमेरिका का यह offer ठुकराते हुए, जो कहा। वह दुनिया भर के लिए, एक मिसाल बन गई। उनके अनुसार, मुझे लड़ने के लिए हथियार चाहिए, शरण नहीं।

      रूस और यूक्रेन के बीच चल रहे युद्ध में, एक नाम और चेहरा कई बार हमारे सामने आया है। कभी वह अपने देश की जनता को भरोसा दिलाते हैं। वह देश में ही हैं और लड़ रहे हैं। कभी पूरी दुनिया को कहते हैं। कोई उनका साथ देने नहीं आया। वह अमेरिका के उस प्रस्ताव को ठुकरा देते हैं। जिसमें उन्हें देश छोड़ने की बात कही जाती है। शायद आपको अंदाज हो गया होगा। यह शख्स है – Volodymyr Zelensky यूक्रेन के राष्ट्रपति, वह मुल्क जो रूप जैसी महाशक्ति से लोहा ले रहा है।

Ukraine President Biography in Hindi
Advertisements

Ukraine President - Volodymyr Zelensky
An Introduction

 

यूक्रेन राष्ट्रपति  

वोलोदिमिर जेलेन्स्की 

एक नजर

पूरा नाम

वोलोदिमिर ओलेक्सानदृव्यच जेलेन्स्की

(Volodymyr Oleksandrivych Zelensky)

उप नाम

जेलेन्स्की

जन्म-तिथि

25 जनवरी 1978

जन्म-स्थान

क्रिविवि रिह, यूक्रेन

पिता

ओलेक्साक जेलेन्स्की (प्रोफेसर)

माता

रायमा जेलेन्स्की (इंजीनियर)

जाति

यहूदी

स्कूल

क्रिवि हाई स्कूल, यूक्रेन

कॉलेज

कीव नेशनल इकोनॉमिक यूनिवर्सिटी

शैक्षिक योग्यता

कानून में स्नातक

पत्नी

ओलेना वलोदिमिरिवना जेलेन्स्का 

(विवाह -2003)

बच्चे

• किरिलो जेलेन्स्की (बेटा)

• ऑलेक्जेंड्रा (बेटी)

व्यवसाय

● यूक्रेन राष्ट्रपति (वर्तमान)

●अभिनेता 

●फिल्म निर्माता 

●लेखक

●कॉमेडियन (पूर्व)

राजनीतिक दल

सर्वेंट ऑफ द पीपल

राष्ट्रपति पद

7 जून 2019

प्रसिद्ध टीवी शो

सर्वेंट ऑफ द पीपल – 2015 

(किरदार – यूक्रेन के राष्टपति)

कॉमेडी ग्रुप का नाम

Kvartal 95

इनकम सैलरी

$1 मिलियन

नेट-वर्थ

$98 मिलियन

वोलोडिमिर जेलेंस्की का प्रारम्भिक जीवन
Early Life of Volodymyr Zelensky

 वोलोदिमिर का जन्म 25 जनवरी 1978 को दक्षिण-पूर्वी यूक्रेन के क्रिविवि रिह (तत्कालीन सोवियत संघ) क्षेत्र में हुआ था। यहां आज भी रसिया समर्थक ताकतों का दबदबा है। यानी जेलेन्स्की यूक्रेन के एक ऐसे क्षेत्र में पले और बढ़े। जहां उन्होंने यूक्रेन और रसिया के रिश्तों के बीच, कड़वाहट का शुरुआत से  अनुभव किया। उन्होंने कभी भी ये कल्पना नहीं की थी। वह एक दिन यूक्रेन के राष्ट्रपति  बन जाएंगे।

     इनके पिता ओलेक्साक जेलेन्स्की एक प्रोफ़ेसर हैं। जोकि क्रीवी इंस्टिट्यूट में  cybernetic and computing Hybrid  के एक शैक्षणिक विभाग के प्रमुख हैं। इनकी मां रायमा जेलेन्स्की, एक इंजीनियर के रूप में काम करती थी। इनके माता पिता यहूदी थे। अपने घर के दुलारे वोलोदिमिर शुरूआत से ही बेहद प्रभावशाली रहे।  बचपन में वोलोदिमिर का पूरा परिवार, Mongolia के Erdenet में रहने चले गए। इनकी प्रारंभिक शिक्षा मंगोलिया में ही हुई। वोलोदिमिर ने यहां पर रहते हुए। यूक्रेनी और रूसी भाषा पर, अपनी पकड़ को नहीं छोड़ा।

वोलोडिमिर जेलेंस्की की शिक्षा
Education of Volodymyr Zelensky

 जेलेन्स्की ने अपनी elementary education मंगोलिया के एल्डरनेट से की। इसके बाद, उनका परिवार वापस यूक्रेन आ गया। जहां उन्होंने क्रिवि हाई स्कूल से अपनी पढ़ाई पूरी की। इसके बाद उन्होंने Test of English एक foreign language के रूप में पास की। जिससे उन्हें 16 साल की उम्र में, इजराइल जाकर आगे की पढ़ाई करने का मौका मिला।

     लेकिन उनके पिता ने इसकी permission नहीं दी। जिसके कारण उन्होंने यह offer ठुकरा दिया। इसके बाद, जेलेन्स्की ने क्रिवि नेशनल इकोनॉमिक यूनिवर्सिटी से 1995 में लॉ की डिग्री हासिल की। लेकिन उन्होंने legal profession को pursue नहीं किया। 

वोलोडिमिर जेलेंस्की का विवाह व परिवार
Volodymyr Zelensky - Marriage and Family

यूक्रेन की प्रथम महिला और यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेन्स्की की पत्नी  ओलेना वलोदिमिरिवना जेलेन्स्का है। ओलेना एक यूक्रेनी  आर्किटेक्ट हैं। इसके साथ ही वह एक स्क्रीन राइटर भी है। ओलेना भी क्रिवि नेशनल यूनिवर्सिटी की पूर्व student थी। यह सिविल इंजीनियरिंग में  ग्रेजुएट हैं।

     इन दोनों की शादी 2003 में हुई। इनके दो बच्चे हैं। जिनमें उनकी बेटी का नाम ऑलेक्जेंड्रा ( 15 जुलाई 2004) और बेटे का नाम किरिलो जेलेन्स्की (2013) है। ओलेना एक सोशल वर्कर भी हैं। जिन्होंने pandemic के दौरान बहुत ही सराहनीय कार्य किए।

वोलोडिमिर जेलेंस्की का कैरियर
Career of Volodymyr Zelensky

 जेलेन्स्की ने सिर्फ़ 17 वर्ष की उम्र में, नाटकों और फिल्मों में अभिनय करना शुरू कर दिया था। वर्ष 1997 में, जब वह 19 साल के थे। तब उन्होंने ‘क्वॉर्टल 95’ नाम की। अपनी एक प्रोडक्शन कंपनी शुरू की। यह कंपनी कामयाब रही। इसके बाद उन्होंने कई फिल्मों में एक्टिंग की। इनमें से कुछ फिल्में रसिया में भी सुपरहिट रही। वर्ष 2008 में, उनकी पहली फीचर फिल्म ‘Love in the Big City’ और इसके sequel ने, उन्हें यूक्रेन, बेलारूस और रशिया में बहुत लोकप्रिय बना दिया। 

       उनकी कॉमेडी को, इन तमाम देशों में बहुत पसंद किया जाने लगा। 2012 में, उन्होंने ‘जेलेन्स्की बनाम नेपोलियन’ फिल्म बनाई। 2014 यूक्रेन के लिए उथल-पुथल वाला साल रहा था। कई महीनों तक यूक्रेन में प्रदर्शनों का दौर चला। जिसके बाद यूक्रेन के रूस समर्थक राष्ट्रपति विक्टर यानुकोविच को सत्ता से हटा दिया गया। इसके बाद रूस ने क्रीमिया पर कब्जा कर लिया। वही देश के पूर्वी हिस्से में अलगाववादी लड़ाको का समर्थन किया।

  इन घटनाओं के एक साल बाद यानि 2015 में कुछ ऐसा हुआ। कि इस कॉमेडी ने, उनका पूरा जीवन ही हमेशा के लिए बदल दिया। इसी साल उनकी प्रोडक्शन कंपनी, एक नई टीवी धारावाहिक लेकर आई। जो यूक्रेन में 1+1 नेटवर्क पर प्रसारित हुआ। इस टीवी सीरीज का नाम ‘सर्वेंट ऑफ द पीपल‘ था। इसमें जेलेन्स्की एक ऐसे किरदार में थे। जो दुर्घटनावश या यूं समझ लीजिए कि किस्मत से। वह यूक्रेन का राष्ट्रपति बन जाता है।

    इसी तरह अनिल कपूर की एक हिंदी फिल्म ‘नायक’ हमारे देश में भी आ चुकी है। जिसमें अनिल कपूर का किरदार अचानक से, एक राज्य का मुख्यमंत्री बन जाता है। यूक्रेन के इस सीरीज की कहानी भी, बिल्कुल नायक जैसी ही है। इस सीरीज में जेलेंस्की, एक History Teacher की भूमिका में हैं। एक दिन वह यूक्रेन में भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठाते हैं। इसका एक वीडियो बनाकर, social media में post कर देते हैं।

      इसके बाद यह वीडियो इतना वायरल होता है कि आम जनता जेलेंस्की के किरदार को पसंद करने लगती हैं। अचानक  एक दिन, उन्हें यूक्रेन का राष्ट्रपति बना दिया है। यह सब एक पटकथा, एक कहानी है। उनकी टीवी सीरीज में, यह सब हुआ है। साल 2015 से 2019 के बीच यूक्रेन में टेलीकास्ट हुई। इससे वो यूक्रेन में हीरो बन गए। इस टीवी सीरीज की, यह कहानी सिर्फ एक कल्पना पर आधारित थी। लेकिन बाद में, इस कहानी ने असलियत का रूप ले लिया।

वोलोडिमिर जेलेंस्की का राजनीतिक सफर
Political Career of Volodymyr Zelensky

वोलोदिमिर जेलेन्स्की शांति और साफ राजनीति के वादे के साथ, राजनीति में आए। इस धारावाहिक के बाद, जेलेन्स्की यूक्रेन में, इतने लोकप्रिय हो गए। लोगों को ऐसा लगने लगा। अगर असल में जिंदगी में भी, इसी तरह का राष्ट्रपति मिल जाए। तो वो यूक्रेन की राजनीति को बदल देंगे और नये बदलाव लेकर आएंगे। उस समय यूक्रेन के लोग भ्रष्टाचार से बहुत परेशान थे। दुखी थे। वह बदलाव चाहते थे।

      यूक्रेन की जनता को लगने लगा, यह अभिनेता ही सबसे सही व्यक्ति है। लोगों के भारी समर्थन को देखते हुए। वर्ष 2018 में, जेलेन्स्की ने तय किया। वह यूक्रेन की राजनीति में राष्ट्रपति का चुनाव लड़ेंगे। इसके लिए, उन्होंने एक पार्टी बनाई। उन्होंने अपनी पार्टी का नाम ‘सर्वेंट ऑफ द पीपल’ रखा। उन्होंने राष्ट्रपति बनने के लिए, पारंपरिक रास्ता नहीं अपनाया। जब 2019 में, यूक्रेन में चुनाव हुआ। तब जेलेन्स्की ने अपनी पार्टी को launch किया। 

    इस दौरान पूरे यूक्रेन में कॉमेडी सीरियल के बहुत सारे, वीडियो क्लिपिंग को  वायरल किया गया। इन वीडियो क्लिपिग में, एक विनम्र शिक्षक भ्रष्टाचार के खिलाफ बयान दे रहा होता है। फिर वह बहुत सारी समस्याओं का समाधान करते हुए दिखाया जाता है। तब ऐसा माहौल बन गया। जिससे राजनीति से निराश यूक्रेन के लोगों में, उम्मीदें पैदा हो गई। इसके बाद जेलेन्स्की भारी बहुमत से राष्ट्रपति चुन लिए गए।

वोलोडिमिर जेलेंस्की - राष्ट्रपति के रूप मे कार्य
Volodymyr Zelensky - Served as a President

   2019 में राष्ट्रपति बनने के बाद, जेलेन्स्की  अपने देश में कुछ अच्छा करने की कोशिश की। क्योंकि उस समय यूक्रेन के पूर्वी इलाके में गृह युद्ध चल रहा था। अलगाववादियों ने यहां पर कब्जा किया हुआ था। जेलेन्स्की ने कोशिश की। यहां पर गृह युद्ध समाप्त हो। इस युद्ध में 14000 से ज्यादा लोग मारे जा चुके थे। इन्होंने समझौता करने का प्रयास किया।

    रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से बातचीत की। फिर कैदियों की अदला बदली हुई। दरअसल 2014 में, जब रूस क्रीमिया पर कब्जा कर रहा था। उस वक्त यूक्रेन के बहुत सारे सैनिक रूस के कब्जे में आ गए थे।रूस के सैनिक यूक्रेन की पकड़ में आ गए थे। जेलेन्स्की ने 2014 में हुए, ‘मिन्स्क समझौते’ जो बेलारूस की राजधानी मिन्स्क में हुआ था। उसको 2019 में लागू करने की कोशिश की। लेकिन वह इसमें सफल नहीं हो पाए।

     इसके बाद रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने संघर्ष प्रभावी क्षेत्रों के नागरिकों को पासपोर्ट देना शुरु कर दिया। जिससे यूक्रेन और रूस के रिश्तो में गर्माहट आ गई। इसके बाद जेलेन्स्की अमेरिका के दबाव में आ गए। जेलेन्स्की ने मजबूती से यूक्रेन के यूरोपीय संघ और सैन्य गठबंधन नाटो की सदस्यता हासिल करने की बात कहनी शुरू कर दी। जिसके कारण रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन बहुत नाराज हो गए।

रूस-यूक्रेन विवाद का कारण
Reason of Russia-Ukraine Dispute

  व्लादिमीर पुतिन के आदेश पर रूसी सेना ने, यूक्रेन पर आक्रमण बोल दिया। इस तबाही को देखकर, पूरी दुनिया में कोहराम मच गया। लेकिन दुनिया को तीसरे विश्व युद्ध के मुहाने पर खड़ा करने वाला, यह विवाद क्या है। इसे समझने की कोशिश करते हैं। रूस-यूक्रेन के बीच तनाव, नवंबर 2013 में तब शुरू हुआ। जब यूक्रेन के तत्कालीन राष्ट्रपति विक्टर यानुकोविच का कीव में विरोध शुरू हुआ। यानुकोविच को रूस का समर्थन हासिल था। जबकि प्रदर्शनकारियों को अमेरिका और ब्रिटेन का।

       बगावत के चलते हैं। फरवरी 2014 में यूक्रेन के राष्ट्रपति यानुकोविच को देश छोड़कर, रूस में शरण लेनी पड़ी। यहीं से  इस विवाद की शुरुआत हुई। इसका पलटवार करते हुए। रूस ने क्रीमिया पर कब्जा कर लिया। इसके साथ ही रूस ने, यूक्रेन के अलगाववादियों को खुला समर्थन दिया। तभी से यूक्रेनी सेना और अलगाववादियों के बीच जंग जारी है। यूक्रेन के कई पूर्वी इलाकों पर रूस समर्थित अलगाववादियों का कब्जा है। यही के दो डोनेत्स्क (Donetsk) और लुहांस्क (Luhansk) को, रूस ने अलग मुल्क के तौर पर मान्यता दे दी है।

      2014 से सुलग रहा, यह विवाद। अचानक जंग में कैसे बदल गया। दरअसल यूक्रेन ने अलगाववादियों से निपटने के लिए, नई रणनीति बनाई। यूक्रेन ने नाटो से दोस्ती बढ़ाई और अमेरिका की शरण में चला गया। बात तब बिगड़ी, जब यूक्रेन ने नाटो में शामिल होने की तैयारी शुरू कर दी। रूस यही चाहता है कि यूक्रेन नाटो का हिस्सा न बने। इसके पीछे रूस का तर्क है कि यूक्रेन अगर नाटो से जुड़ जाता है। तो रूस पूरी तरह घिर जाएगा। क्योंकि भविष्य में नाटो देशों की मिसाइले, यूक्रेन की धरती पर तैनात की जाएंगी। जो रूस के लिए बड़ी चुनौती साबित हो सकती है।

        रूस चाहता है कि नाटो अपना विस्तार न करें। आखिरकार रूस ने अमेरिका और दूसरे देशों की पाबंदियों की परवाह किए बगैर। 20 फरवरी को यूक्रेन पर हमला बोल दिया। सोवियत संघ के विघटन से पहले यूक्रेन, सोवियत संघ का ही हिस्सा था।  द्वितीय विश्व युद्ध समाप्त होने के बाद, पूरी दुनिया दो धड़ों में बढ़ गई। एक तरफ अमेरिका और दूसरी तरफ सोवियत संघ था। 25 दिसंबर 1991 को सोवियत संघ टूट गया। जिसके 15 अलग-अलग राज्य बने। ये 15 मुल्क, इस प्रकार है।

सोवियत संघ के विघटन 

के बाद बने देश

रूस

ताजिकिस्तान

इस्टोनिया

यूक्रेन

लिथुआनिया

किर्गिस्तान

आर्मेनिया

कजाकिस्तान

लातविया

जॉर्जिया

तुर्कमेनिस्तान

मालदोवा

बेलारूस

उज़्बेकिस्तान

अज़रबैजान

वोलोडिमिर जेलेंस्की - लाइफ़स्टाइल, इनकम व नेट-वर्थ
Volodymyr Zelensky - Lifestyle, Income and Net-Worth

 वोलोदिमिर जेलेन्स्की की यूक्रेन के राष्ट्रपति के रूप में, इनकम $1 मिलियन है। जबकि उनकी कुल संपत्ति $696 मिलियन है। जो कि उन्होंने एक अभिनेता, निर्माता, लेखक व यूक्रेन के राष्ट्रपति के रहते हुए, अर्जित की है।

     वोलोदिमिर जेलेन्स्की के पास Mercedes-Benz G-Class कार है। जिसकी कीमत $370,000 है। इसके अलावा, उनके पास Tesla Model S भी है। जिसकी कीमत $100,000 है। इनके अतिरिक्त उनके पास Jaguar XF ($125,000), Audi Q2 ($80,000) व BMW X9 ($150,000) है।

FAQ:

 

प्र०   वोलोदिमिर जेलेन्स्की कौन है?

उ०  जेलेन्स्की एक अभिनेता हास्य अभिनेता थे। जो वर्तमान में यह यूक्रेन के राष्ट्रपति हैं।

 

प्र०   वोलोदिमिर जेलेन्स्की कब राष्ट्रपति चुने गए?

उ०  ज़ेलेंस्की अप्रैल 2019 में यूक्रेन के राष्ट्रपति चुने गए थे।

 

प्र०    वोलोदिमिर जेलेन्स्की का प्रसिद्ध धारावाहिक कौन-सा था?

उ०  जेलेन्स्की का प्रसिद्ध धारावाहिक ‘सर्वेंट ऑफ द पीपल’ था। जिसमें वह यूक्रेन के राष्ट्रपति के रूप में नजर आए थे

 

प्र०   जेलेन्स्की का पूरा नाम क्या है?

उ०  जेलेन्स्की का पूरा नाम Volodymyr Oleksandrivych Zelensky है।

 

प्र० वोलोदिमिर जेलेन्स्की किस राजनीतिक पार्टी से संबंध रखते हैं?

उ० जेलेन्स्की ने 2018 में अपनी पार्टी बनाई। जिसका नाम ‘सर्वेंट ऑफ द पीपल’ रखा।

 

प्र०  यूक्रेन-रसिया युद्ध कब शुरू हुआ?

उ०  रूस ने 20 फरवरी 2022 को यूक्रेन पर हमला बोल दिया था।

 

प्र० वोलोदिमिर जेलेन्स्की की पत्नी का नाम क्या है?

उ० जेलेन्स्की की पत्नी का नाम ओलेना वलोदिमिरिवना जेलेन्स्का है।

 

प्र० वोलोदिमिर जेलेन्स्की के बच्चों के क्या नाम है?

उ०  जेलेन्स्की के दो बच्चे हैं। जिनमें उनकी बेटी का नाम ऑलेक्जेंड्रा ( 15 जुलाई 2004) और बेटे का नाम किरिलो जेलेन्स्की (2013) है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.