Advertisements

The Parable of the Pipeline Book Summary in Hindi। अमीर बनने का रहस्य

The Parable of the Pipeline Book Summary in Hindi। The Parable of the Pipeline By Burke Hedges। पैसे की पाइपलाइन कैसे बनाएं। बाल्टी मत भरो, पैसे की पाइपलाइन बिछाओ। पैसों की पाइपलाइन बनाने का जादुई तरीका। अमीर बनने का रहस्य। मिलेनियर बनना है, तो पाइपलाइन बनाओ। The Parable of the Pipeline- Hard Work vs Smart Work। The Parable of the Pipeline Story in Hindi। Benefit of Passive Income। How to do Passive Income in Hindi। The Parable of the Pipeline Book Review in Hindi। The Parable of the Pipeline in Hindi। The Parable of the Pipeline pdf in Hindi। The Parable of the Pipeline Book in Hindi। How to become Rich in Hindi। The Parable of the Pipeline in Hindi। The Parable of the Pipeline Summary in Hindi। How to increase Wealth in Hindi

The Parable of the Pipeline By Burke Hedges
Advertisements

The Parable of The Pipeline Book Summary in Hindi
अमीर बनने का सबसे बड़ा रहस्य

यदि आप भी सोचते हैं कि आप दौलत तभी बना सकते हैं। जब आपकी सैलरी ज्यादा होगी। तो आप बिल्कुल गलत है। अधिकांश लोग, इसी भ्रम में जी रहे हैं कि दौलत बनाने के लिए, अधिक सैलरी का होना आवश्यक है। यदि आप गौर करेंगे, तो पाएंगे कि जैसे-जैसे आपकी सैलरी बढ़ती जाएगी। वैसे-वैसे आपके खर्चे भी बढ़ते जाएंगे। बल्कि अधिक सैलरी वाले लोग, अक्सर कर्ज का शिकार हो जाते है।

       जिस दिन उनकी नौकरी चली जाती है। उस दिन उनके पास आय का कोई भी साधन मौजूद नहीं रहता है। यदि आप भी उन लोगों में से एक है। जिनकी अच्छी सैलरी होने के बाद, जेब में कुछ भी नहीं बचता है। तो ये Book Summary आपके लिए ही है। यह Book हमें ऐसी Pipeline को build  करना सिखाती है। जो हमें हमेशा Residual Income देती रहती है। Residual Income से मतलब है कि हम एक बार काम करते हैं। फिर हम उससे हमेशा पैसा कमाते हैं।

     यही कारण है कि pipeline लगातार, पैसा pump करती रहती है। हर दिन, हर महीने, हर साल हम काम करें या न करें। Author का कहना है कि millionaire बनना कोई chance नहीं है। बल्कि हमारी choice होती है। हमारी pipeline हमारी lifeline होती है। अगर हमारे पास एक ही pipeline है। तो मतलब हमारे पास, एक की lifeline है। जितनी ज्यादा pipeline होगी। हमारे लिए उतना ही अच्छा होगा। Pipeline हमको personal और financial freedom और lifetime security देती है। तो आप भी समझ सकते हैं कि pipeline कैसे बनाएं।

     ये Book – ‘The Parable of the Pipeline’ जिसे Burke Hedges ने लिखा है। यह summary इस बुक से सीखी गई, कुछ महत्वपूर्ण बातों का सार है। जो आपको बताएगी कि  आखिर क्यों अधिक सैलरी होने के बाद भी। आज अधिकांश लोग इस हालत में हैं। जिस दिन वे काम नहीं करेंगे।  उस दिन उनके पास कोई इनकम नहीं होगी। इसका उपाय जानने के लिए, इस Book Summary को पूरा जरूर पढ़िए।

The Parable of The Pipeline
Story of Pablo and Bruno

इटली के एक छोटे से गांव में दो युवक रहते थे। जिनके नाम पाब्लो और ब्रोनो थे। यह दोनों बड़े सपने देखते थे। वह दोनों हमेशा ये बातें किया करते थे। कि एक दिन वो गांव के सबसे अमीर आदमी बन जाएंगे। यह दोनों बस किसी अवसर की तलाश कर रहे थे। एक दिन गांव के निवासियों ने, पास की नदी से पानी लाकर। हौज भरने के लिए, दो लोगों को काम पर रखने का विचार किया। उन्होंने यह काम पाब्लो और ब्रोनो को दे दिया।

     वे दोनों अपनी बाल्टी उठाकर, नदी की ओर चल दिए। उन्होंने पूरे दिन बाल्टी से पानी लाकर, उस हौज को भर दिया। इस पर गांव वाले ने, उन्हें हर बाल्टी के लिए एक पैनी दी। इस पर ब्रोनो की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। वह चिल्लाया मुझे अपनी किस्मत पर यकीन नहीं हो रहा है। लेकिन पाब्लो कुछ खास खुश नहीं था। पानी की बाल्टियां ढोने के कारण, उसके पूरे शरीर में दर्द हो रहा था।

      वह सोचने लगा। नदी से गांव तक पानी लाने के लिए, वह कोई और तरीका सोचेगा। अगले दिन पाब्लो ने ब्रोनो से कहा। हम सिर्फ थोड़े से धन के लिए, दिनभर बाल्टी ढोने के स्थान पर। क्यों न नदी से गांव तक एक pipeline बना दे। तो ब्रोनो ने कहा, हमारे पास बेहतरीन नौकरी है। मैं पूरा दिन बाल्टी से पानी लाकर, खूब धन कमा सकता हूं। Weekend पर हमें छुट्टी मिलती है। हर साल 2 सप्ताह की paid leave भी मिलती है।

    पाब्लो, तुम pipeline क्या ख्याल, अपने दिमाग से निकाल दो। पाब्लो ने ब्रोनो को समझाया कि वह आधे दिन बाल्टी ढोने का काम करेंगे। बाकी आधे दिन pipeline बनाने का काम करेंगे। लेकिन ब्रोनो नहीं माना। पाब्लो को अपने सपने पर पूरा भरोसा था। इसलिए वह अपने काम पर लग गया। सभी गांववाले और ब्रोनो, पाब्लो का खूब मजाक बनाते थे।

     वह उसे पाब्लो pipeline कह कर चिड़ाते थे। ब्रोनो, पाब्लो से अधिक काम करता था। इसलिए उसे अधिक धन भी मिलता था। वह नए कपड़े खरीदता था। इसके साथ ही लजीज भोजन करता था। वह लोगों को, अपनी तरफ से शराब भी पिलाता था। इससे लोग उसकी तारीफों के पुल बांधते थे। जब ब्रोनो आराम से लेटा रहता था। तो उस समय पाब्लो अपनी pipeline खोदता रहता था।

कल के सपने, आज के ही त्याग से साकार होते है
Sacrifice Today For a Better Tomorrow

कुछ महीनो तक तो, पाब्लो ही मेहनत का कुछ फल दिखाई नहीं दिया। वह शाम को और weekend पर भी, काम कर रहा था। लेकिन वह हमेशा खुद को याद दिलाता रहता था। कल के सपने, आज के ही त्याग से साकार होते हैं। वह रोज खुदाई करता था। वह हमेशा अपनी नजर, अपने लक्ष्य पर रखता था। एक दिन पाब्लो को, यह एहसास हुआ। कि pipeline आधी पूरी हो गई है। अब उसे बाल्टी के लिए, आधा सफर ही तय करना पड़ रहा था।

    वह अपने बजे समय में भी, pipeline की खुदाई का काम करने लगा। पाब्लो अपने दोस्त ब्रोनो को भी बाल्टियां ढोते हुए देखता था। अधिक बाल्टी ढोने के कारण, ब्रोनो का शरीर अब दर्द से झुक गया था। ब्रोनो अब नाराज व खिन्न रहने लगा। वह अपना अधिकांश समय, अब शराब खाने में ही व्यतीत करता था। लोग अब उसे ब्रोनो  बाल्टी वाला कहने लगे थे। अब लोग उसका मजाक बनाने लगे थे। आखिरकार, वह दिन आ ही गया। जब पाब्लो की pipeline पूरी हो गई। गांव में pipeline से, पानी गांव की हौज में आ गया।

     स्थाई पानी आने की वजह से, गांव का विकास होने लगा। गांव में खुशहाली आ गई। अब pipeline होने के कारण, पाब्लो को बाल्टी ढोने की जरूरत नहीं थी। पानी हमेशा बहता रहता था। चाहे वह काम करे या न करे। ये तब भी बहता था। जब वह  खाना खाता था। यह तब भी बहता था। जब वह खेलता था। यह तब भी बहता था।  जब वह सोता था। गांव में जितना पानी बह कर आता था। उतना ही अधिक धन पाब्लो की जेब में आता था।

      पाब्लो अब चमत्कारी पाब्लो के नाम से famous हो गया। हर तरफ, उसकी तारीफ होने लगी। लेकिन पाब्लो का सपना, सिर्फ एक pipeline पूरा करने का नहीं था। उसके पास बहुत बड़े plans थे। उसका plan पूरे विश्व में, pipeline बनाने का था। Pipeline के कारण, ब्रोनो का बाल्टी ढोने का काम बंद हो गया। पाब्लो जब ब्रोनो को शराब खाने में देखता था। तो उसे बहुत दुख होता था।

      एक दिन वह ब्रोनो से मिला। उससे कहा कि मुझे तुम्हारी मदद चाहिए। ब्रोनो ने पाब्लो से गुस्से में कहा। मेरा मजाक मत बनाओ। पाब्लो ने ब्रोनो को समझाया। मैं तुम्हारा मजाक बनाने नहीं, बल्कि एक बेहतरीन Business Opportunity देने आया हूं। मैंने 2 सालों में, pipeline के विषय में बहुत कुछ सीखा है। मैं चाहता हूं कि मैं तुम्हें भी यह सिखाऊं। फिर तुम और को सिखाओ। इसे पूरे विश्व में, हर घर तक यह pipeline पहुंचे जाए।

     पाब्लो आगे कहने लगा। जरा सोचो, इन pipeline से जितना ज्यादा पानी बहेगा। हमारी जेब में भी उतना ही अधिक पैसा पहुंचेगा। आखिर ब्रोनो को इस pipeline के business में बड़ी opportunity दिखाई दे गई। उसने पाब्लो की ओर दोस्ती का हाथ बढ़ा दिया। बरसों बाद भी, अब पाब्लो और ब्रोनो दोनों retire हो चुके है। लेकिन उनके pipeline का business, अब भी उनके बैंक एकाउंट में, हर साल करोड़ों डॉलर लाता है।

आप कौन है - एक बकेट कैरियर या एक पाइपलाइन बिल्डर
Who are You - A Bucket Carrier or A Pipeline Builder

कई बार जब वो यात्रा कर रहे होते थे। तो वो बाल्टी ढोने वाले युवकों को अपनी कहानी सुनाते थे। उन्हें भी pipeline बनाने में मदद करना चाहते थे। लेकिन कुछ तो, उनकी बात सुनकर खुश होते थे। जबकि अधिकांश उनके pipeline के विचार को, सिरे से खारिज कर देते थे। उनके पास हमेशा pipeline न बनाने का, कोई न कोई  बहाना होता था। लेकिन आखिरी में, वह दोनों स्वीकार करते थे। कि वह बाल्टी ढोने वाले समाज में रहते हैं। इसलिए बहुत कम लोग ही pipeline बनाने का सपना, देखने की हिम्मत कर सकते हैं।

     अब आप भी अपने आपसे, यह सवाल कीजिए। कि आप कौन है? बाल्टी ढोने वाले या pipeline बनाने वाले। क्या आपको सिर्फ़ तभी पैसे मिलते हैं। जब आप खुद ब्रोनो की तरह काम करते हैं। या पाब्लो की तरह, एक बार काम करते हैं। फिर आपको उस काम के, बार-बार पैसे मिलते हैं। यदि आप भी ज्यादातर लोगों की तरह ही है। तो आप भी बाल्टी ढोने का ही काम कर रहे हैं। आप केवल समय के बदले, पैसे बनाने पर ही काम कर रहे है।

       इसे ऐसे समझिए। आप यदि एक घंटे काम करेंगे। तो आपको एक घंटे के ही पैसे मिलेंगे। एक महीने के बदले, एक महीने के ही पैसे मिलेंगे। एक साल के बदले, एक साल के ही पैसे मिलेंगे। इसी जाल में, अधिकांश लोग फसे हुए हैं। लेकिन इस बाल्टी ढोने वाले काम में, सबसे बड़ी problem यही है। जिस दिन आप काम करना बंद कर दोगे। आप आपकी जेब में, पैसा आना भी बंद हो जाएगा। मतलब बाल्टी ढोना बन्द, तो पैसा आना बंद।

बाल्टी ढोने वाले यानी नौकरी पेशा वाले लोग असुरक्षित होते है
The Power of The Pipeline

बाल्टी ढोने वाली सुरक्षित नौकरी, जैसी कोई चीज़ नहीं होती। क्या देख सकते हैं कि बाल्टी ढोने वाले लोग, कितने असुरक्षित होते हैं। समय के बदले, पैसे के जाल में। यह सबसे बड़ी problem है। जब आप समय नहीं बेचोगे, तो आपको पैसा भी नहीं  मिलेगा। जब आप समय नहीं दे पाए। तो आपके साथ क्या होगा। जरा सोचिए, क्या होगा यदि नौकरी में आपकी छटनी हो जाए। क्या होगा, यदि आप बीमार हो जाए। अपाहिज हो जाए। फिर आप बाल्टी न ढो पाए।

     क्या होगा, अगर किसी इमरजेंसी बीमारी की वजह से, आपकी सारी जमा पूँजी खत्म हो जाए। यदि आपकी इनकम  आना बंद हो जाए। तो आप कब तक, अपने house या car की क़िस्त दे पाएंगे। तो इस काम में सुरक्षा कहां है। जबकि pipeline तब भी पैसा देती है। जब खेलते हैं। Pipeline निरंतर आमदनी का साधन है। चाहे आप समय दे या न दे। सच्ची सुरक्षा का एकमात्र तरीका यही है। कि जब आप बाल्टी ढो रहे हो। तो उसी समय एक pipeline बना लो। हम देखते हैं, कि 99%  लोग बाल्टीयां ढोते हैं। वह यह मान लेते हैं कि अगर जीवन में कुछ पाना है। तो वह बाल्टी ढोकर ही पाया जा सकता है।

     बाल्टी ढोने वाला मॉडल बताता है कि स्कूल जाओ। बाल्टियां ढोना सीखो। कड़ी मेहनत करो। ज्यादा बाल्टियां ढोना सीखो। बाल्टी A कंपनी से बाल्टी B कंपनी की नौकरी कर लो। ताकि आप ज्यादा बाल्टी ढो पाओ। बाल्टी ढोने से, लोग कितना कमाते है। शायद वह जितना कमाते हैं। उससे उनकी बुनियादी जरूरतें भी पूरी नहीं हो पाती। जब बाल्टी ढोने वालों को लगता है कि उन्हें जादा पैसे चाहिए।

     तब उन्हें यही solution मिलता है।  ज्यादा बाल्टी ढोओ। इसके लिए, वो बाल्टी ढोने की दूसरी नौकरी भी करते हैं। बाल्टियां ढोने वाले, यह तर्क देते हैं। ज्यादा बाल्टीयों का अर्थ है, ज्यादा वेतन। वह सोचते हैं कि यदि वे ज्यादा बाल्टियां ढो पाए। तो उन्हें जादा ज्यादा वेतन मिलेगा। जिससे उनकी सभी problems दूर हो जाएगी। लेकिन हकीकत ये होती है। जिसकी जितनी भी बड़ी बाल्टी होती है। उसका खर्च उतना ही ज्यादा होता है।

     बाल्टियां चाहे कितनी भी बड़ी क्यों न हो। एक न एक दिन वह सूख ही जाएगी। जबकि pipeline हमेशा काम करती रहेगी। लेकिन pipeline, अपने आप ही नहीं बनती। उसके लिए समय निकालकर, कड़ी मेहनत करनी पड़ती है। हर कोई अपने बाल्टी के size को बढ़ाना चाहता है। लेकिन यह सच्चाई है कि बाल्टियां ढोने से आप financial freedom हासिल नहीं कर सकते। क्योंकि जिस दिन आप बाल्टियां ढोना बंद कर देंगे। उस दिन आपका पैसा आना भी बंद हो जाएगा।

The Parable of The Pipeline
Money Leverage

चीन के एक सम्राट ने chess का आविष्कार करने वाले, व्यक्ति को पुरस्कार  देने का निर्णय लिया। उन्होंने उस व्यक्ति की एक इच्छा पूरी करने का निर्णय लिया। उस आविष्कारक ने सम्राट से कहा कि मुझे चावल का एक दाना दे दे। इस पर सम्राट ने हैरानी से कहा। बस चावल का एक दाना। अविष्कारक ने कहा, chess के पहले खाने के लिए, बस एक दाना। फिर दूसरे खाने के लिए, उसके दोगुने दाने। फिर तीसरे खाने में, उसके दो गुने। यह तब तक चलता रहे। जब तक वह चावल का एक दाना, chess के सभी खानों में दोगुना न हो जाये। बस यही मेरी चाय इच्छा है।

    सम्राट ने खुश होकर सोचा। मुझे यह अद्भुत खेल, बहुत ही सस्ते में मिल रहा है। सम्राट ने कहा, मुझे यह मंजूर है। रसोई का सेवक चावल का छोटा-सा थैला लेकर आया। अविष्कारक ने कहा कि आप रसोई से एक बड़ा थैला ले आएं। यह सुनकर दरबार के सभी लोग, उस पर हंसने लगे। इसके बाद, आविष्कारक चावल के दाने chess के खानों पर रखने लगा। सब लोग  जोर-जोर से हंसने लगे। जब 8 खानों की पहली लाइन भर गई। तब 1,2,4,8,16,32,64,128…. दाने।

      जल्द ही चावल के छोटे ढेर, दोगुने होकर मध्यम आकार के थैलो में बदल गए। जो दोगुने होकर चावल के, बड़े-बड़े थैले बन गए। दूसरी लाइन के आखिर तक सम्राट के समझ में आ गया। कि उसे बड़ी गलती हो गई है। अब तक अविष्कारक को देने वाले दानों की संख्या 32,768 हो गई थी। जबकि अभी भी 48 खाने बाकी थे। उन्होंने यह प्रक्रिया बंद करवा दी। अपने गणितज्ञों को बुलाकर, इस प्रक्रिया को समझाने के लिए कहा।

      काफी माथा-पच्ची के बाद, गणितज्ञ  इस नतीजे पर पहुंचे। कि अगर हर खाने में चावल का दाना, दोगुना होता रहा। तो chess के आखिरी खाने में, कुल 18 million-trillion चावल के दाने होंगे। जो पूरे विश्व में उपलब्ध चावल का 10 गुना होगा। सम्राट ने आविष्कारक से कहा। यदि वह उसे उसके वादे से मुक्त कर देता है। तो उसे देहात में, एक जायजाद मिलेगी। जिसमें सैकड़ो एकड़ उपजाऊ चावल के खेत होंगे। आविष्कारक इसे खुशी-खुशी मान गया।

Doubling Concept / 8 Wonders of the World / Rule of 72

  यदि अमीर लोगों की अमीरी का राज जानना हो। तो 72 के नियम पर, नजर डालिए। यह आपको बताता है कि आपका निवेश कितने सालों में दोगुना होगा। यह नियम इस प्रकार है। सबसे पहले अपने निवेश पर interest rate का पता कीजिए। अब 72 में से interest rate को विभाजित करें। फिर जो परिणाम आएगा। वह बताएगा कि आप निवेश कितने साल  दोगुना होगा। 

     उदाहरण के लिए, यदि आपका $1 लाख का निवेश है। उस पर 10% वार्षिक ब्याज की दर है। अब अगर 72 को 10 से विभाजित करें। तो परिणाम 7.2 वर्ष आएगा। इस प्रकार, आपके $1 लाख 10% वार्षिक ब्याज की दर से, 7.2  वर्षों में $2 लाख हो जाएंगे।

Example:

Step 1: प्रारम्भिक निवेश – $100,000

Step 2: वार्षिक दर – 10% / वर्ष

Step 3: 72/10 = 7.2 वर्ष

लाभ – $100,000 का $200,000 ( 7.2 वर्ष में)

इसी प्रकार –

7.2 वर्ष में $200,000

14.4 वर्ष में $400,000

21.6 वर्ष में $800,000

28.8 वर्ष में $1.6 मिलियन

       इस तरह आप देख है कि एक लाख के निवेश को, आप जितना ज्यादा समय तक चक्रवृद्धि होने देंगे। आपकी पाइपलाइन का आकार उतना ही ज्यादा बड़ा होता जाएगा। चक्रवृद्धि ही वह जादुई कारण है। जिसकी बदौलत अमीर लोगों की बाल्टी कभी नहीं सूखती है। उनकी पाइपलाइन दशकों तक लगातार, काम करती रहती है। यदि आप भी मिलेनियर बनना चाहते हैं। तो उसके लिए, सबसे पहले आप खुद को भुगतान करें। यदि हर महीने सबसे पहले, अपने निवेश खातों में पैसे, डालकर खुद को भुगतान करें।

    अपनी पूरी आमदनी को खर्च करने के बजाय। उसका एक बड़ा हिस्सा, अपने निवेश के जार में अलग रखें। इस पैसे को  चक्रवृद्धि होने के लिए छोड़ दें। यह प्रक्रिया लगातार करते रहे। निष्कर्ष यह है कि जब आप अच्छी salary पा रहे हो। तो पूरी salary को बिल्कुल भी खर्च न करें। Salary का एक हिस्सा, अपनी pipeline बनाने में खर्च करें। अपने समय में से थोड़ा समय, अपनी pipeline को दें। यह प्रक्रिया हर महीने, हर साल लगातार चालू रखें। आपका यह छोटा-सा step, आपको एक दिन Financial Freedom हासिल करने में, आपकी मदद करेगा।

Humble Request

    अभी तक आपने इसे पढ़कर, जो भी सीखा। वो पूरी Book का अंश मात्र है। यदि आप भी मिलेनियर बनना चाहते है तो आपको अपने लिए Passive Income का स्रोत बनान होगा अर्थात पैसो की एक पाइपलाइन बनानी होगी। इसके लिए आपको  Burke Hedges की Book- The Parable of The Pipeline जरूर पढ़नी चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.