Advertisements

The Intelligent Investor Book Summary in Hindi। यह करो और अमीर बन जाओ

The Intelligent Investor Book Summary। The Intelligent Investor by Benjamin Graham। यह करो और अमीर बन जाओ। 99% लोग इस कारण से, शेयर मार्केट में पैसा डूबातें है। सही कीमत पर शेयर खरीदने का जादुई तरीका। पैसे कहां इन्वेस्ट करें। पैसों को समझकर, पैसा कमाओ। इन बातों से Share Market से पैसा बरसेगा। पैसा बचाने के Golden Rules। शेयर बाजार से कैसे पैसा कमाया जा सकता है। कैसे चुने बेहतरीन Stocks। 5 Easy Ways to be An Intelligent Investor। How to Invest in Stock Market। Quick Ways to Make Money in Hindi। Tips to Become Rich। Best Book on Finance and Investment। Book Summary in Hindi

The Intelligent Investor by Benjamin Graham
Advertisements

The Intelligent Investor by Benjamin Graham
Book Summary

क्या आपने कभी Stock Market में पैसे लगाने के बारे में सोचा है। लेकिन ज्यादा Knowledge न होने के कारण। आपने कभी Risk ही नहीं लिया। लेकिन अगर आप से कहा जाए। कि Investment की Knowledge के बगैर भी। आप अपने पैसे को Invest कर सकते हैं। इसके साथ ही, बहुत सारे पैसे भी कमा सकते हैं। तो Investment की सारी Strategy को जानने के लिए, आपको इस Book को अवश्य ही पढ़ना होगा।

     The Intelligent Investor Book को दुनिया के जितने भी बड़े-बड़े और बेहतरीन Investor हैं। उन सभी ने इसको जरूर पढ़ा है। वारेन बुफेट ने तो यहां तक कह दिया कि उनकी जितनी भी Success है। उस सारी Success का Credit इस Book को देना चाहते है। इसको Investing की दुनिया में, “Bible Of Investing” भी कहा जाता है। यानी यह एक तरह का Investing से सम्बंधित महान ग्रंथ भी है।

    The intelligent investor इस Book को बेंजामिन ग्राहम ने लिखा है। इसको सबसे पहले, 1949 में publish किया गया था। ग्राहम एक अमेरिकन इकोनॉमिस्ट और प्रोफेशनल इन्वेस्टर थे। ग्राहम को ही सबसे पहले Value Investing, करने वाला इंसान माना जाता है। वारेन बुफेट जोकि बहुत Famous Investor हैं। ग्राहम को उनके investment को, समझाने का सारा श्रेय देते हैं। उनको अपनी जिंदगी में पिता के बाद, दूसरा सबसे प्रभावशाली व्यक्ति बताते हैं। इससे आपको पता चलेगा कि बहुत कम मेहनत और क्षमता के साथ भी, एक बेहतरीन रिजल्ट पाया जा सकता है।

    एक Successful Investing के लिए, आपको किसी fancy Degree, High IQ या Luck की जरूरत नहीं है। आपको बस investing की basic knowledge, एक Investment Strategy और अपने Emotions को Control करना आना चाहिए। अगर आप यह चीज करते हो। तो आप easily, Stock Market से बहुत अच्छा Profit कमा सकते हो। यह Book, read करने में थोड़ी boring है। लेकिन इसके हर एक पेज पर Timeless Investing Wisdom है।

Definition of Investment

 हमेशा अधिकतर लोग समझते हैं। कि कोई भी चीज खरीद लो। फिर उसे 2 साल, 5 साल या 10 साल तक रखे रहो। तो वो investing होती है। जबकि यह investing बिल्कुल नहीं होती। ग्राहम ने Suggest किया है। Investing में तीन चीजों का होना, बहुत जरूरी होता है। अगर यह तीन चीजें नहीं है। तो आप investing नहीं, बल्कि Gambling कर रहे हो। यह तीन चीजें इस प्रकार हैं।

Thorough Analysis – आप किसी भी चीज़ में invest कर रहे है। तो उसके पीछे कुछ कारण होने चाहिए। आपकी एक deeper analysis होनी चाहिए। वो analysis करे बगैर, आप कुछ भी कर रहे है। तो वो Investing नहीं है।

Safety Of Principal – जो पैसा आप लगा रहे हैं। वह पैसा सुरक्षित होना चाहिए। ऐसी बात उस Investing Process में होनी चाहिए। जहां तक Price, तो रोज ही fluctuate होता है। लेकिन साल या 6 महीने को देखें। तो आपका loss नहीं होना चाहिए। मतलब आप जो पैसा लगा रहे हैं। वह safe होना चाहिए।

Adequate Return – आपको invest  किए गए, Amount पर Sufficient Return भी मिलना चाहिए। Difficult Return, thumbnail rule के हिसाब से वो होता है। जो आपको fix assets से मिल सकता है। उससे 5% ज्यादा होना चाहिए। जैसे कि अगर आपको FD के ऊपर 7% का return मिल रहा है। तो अगर आप इक्विटी में invest कर रहे हैं। तो उस पर 12% का return मिलना चाहिए।

 

 अगर यह तीन चीजें आपके Investment में शामिल हैं। तो इसे ही सही investing कहा जा सकता है। अगर यह तीनों चीजें नहीं हैं। तो उसे Speculation या Gambling बोला जाता है। जिसमें आप तुक्का मार रहे हैं। कि मैंने इस कंपनी का शेयर ले लिया। शायद यह share चल जाए।

The Intelligent Investor
Concept of Mr. Market

बेंजामिन ग्राहम का कहना है। बाजार जो आपको, रोज Share के भाव पेश करता है। कि आज यह चीज ₹100 में ले लो। तो कभी बोलता है। 110 में ले लो। तो कभी 50 में ले लो। इसको उन्होंने मिस्टर मार्केट वाली terminology से show किया है। वह कहते हैं कि मिस्टर मार्केट रोज आपके सामने, किसी कंपनी का शेयर, किसी खास भाव पर। आपके सामने रखता है।

      वह कहते हैं कि मिस्टर मार्केट अधिकतर समय सही होता है। यानी 60% से 70% किसी कंपनी का भाव सही होता है। लेकिन कभी-कभी वह emotional problem में पड़ जाता है। इसी के कारण, वह कभी बहुत सस्ता price code करता है। या फिर कभी बहुत महंगा price code करता है। यहीं पर आपको सही decision लेना है। अगर आपने सही decision लिया। तो आपको उसके बढ़िया result मिलेंगे। जहां अपनी गलती की। तो उसके खराब result मिलेंगे।

     ग्राहम का suggestion है कि जब मिस्टर मार्केट बहुत Pessimistic हो। तो आप को खरीदना चाहिए। जब मिस्टर मार्केट बहुत Optimistic हो। तो आपको नहीं खरीदना चाहिए। तब आप बेचिए। यानी जब मार्केट में बहुत ज्यादा गिरावट हो। तो आप को खरीदना चाहिए। वही जब मार्केट में बहुत ज्यादा तेजी हो। तो आपको बेचना चाहिए।

The Intelligent Investor
Margin of Safety

Margin of Safety ने investors की जिंदगी बदल दी। Investing को एक Professional रूप इसी concept ने दिया। हममें से सभी लोग अपनी analysis में कुछ न कुछ गलती कर सकते हैं। हो सकता, हमारा analysis सही हो। लेकिन economic environment बदल जाए। जिसकी वजह से हमें loss सकता है। कई reason हो सकते हैं। जिसके कारण, आप जो उम्मीद कर रहे हैं। वह सही न हो।

     इसलिए जरूरी है कि आप पहले से ही safety लेकर चलें। जैसे मान लेते हैं। आप एक इंजीनियर हैं। आपको एक Bridge बनाने का काम दिया गया है। जिसकी 10000 पाउंड की capacity हो। तो क्या आप 10000 पाउंड वाली capacity वाला ही पुल बनाएंगे। अगर आपने exactly 10000 pound का ही पुल बना दिया। फिर अगर उस पर 11000 pound वाला ट्रक निकला। तो bridge टूट जाएगा। फिर आपके लिए problem हो जाएगी।

     तो हमें Margin of Safety लेकर चलनी चाहिए। इसलिए हमें 12000 pound की capacity का bridge बनाना चाहिए। ताकि आपको safety मिल जाए। यही Safety आपको invest करते समय भी मिलनी चाहिए। वह तब मिलेगी। जब आप किसी भी कंपनी का शेयर, उसके fair price से नीचे खरीदें। अगर उसका Fair Price ₹100 बनता है। तो आपको उसे 70, 80 या 60 में खरीदना चाहिए।

      जब आप उसे नीचे के भाव पर खरीद रहे हैं। यानी 100 की चीज को 70 में खरीद रहे हैं। तो जो आपकी तरफ से, analysis में गलती हो सकती है। वह यहाँ पर discount हो जाएगी। Company का थोड़ा-बहुत बिजनेस जो खराब हो सकता है। वो आपको safety दे देगा। या Over all Business Environment खराब हो जाए। तो यहां आपको safety मिल जाएगी। इसलिए हमेशा Margin of Safety का ध्यान रखना चाहिए।  

The Intelligent Investor
Types of Investors

Benjamin Graham ने investors के कुछ type बताये है। जो इस प्रकार हैं।

Defensive Investor – यह ऐसे investor होते हैं। जिन्हें loss से डर लगता है। जो time नहीं देना चाहते। जो research नहीं करना चाहते। इसके साथ ही, जो ज्यादा risk नहीं लेना चाहते। ऐसे investor को ही, Defensive Investors कहते हैं। यह investors autopilot type के nature के होते हैं। वह ऐसा Portfolio बनाना चाहते हैं। जिसमें वह ऐसे शेयर को रख दें। जिसमें ज्यादा सोचने-विचारने की जरूरत न पड़े। Regulate track करने की जरूरत न पड़े। ऐसी कंपनियों में निवेश करना चाहता है। यह investors ज्यादा emotional होते हैं। यह fear, greed जैसी चीजों से ज्यादा डरते हैं। इन्हें average return ही प्राप्त होते हैं।

Enterprising Investor – यह वह investor होते हैं। जो risk लेना चाहते हैं। जो मेहनत करना चाहते हैं। जो research के लिए time दे सकते है। ऐसे investors को खुद पर, काफी भरोसा होता है। उसे लगता है कि वह अच्छी research कर रहा है। वह खुद पर confident रहता है। ग्राहम कहते हैं। अगर long term की बात करें। तो ऐसे investors ज्यादा return बनाते हैं। वही यह investors, defensive investors की तरह का Portfolio पसंद नहीं करते। यह Investors, decision making Portfolio को पसंद करते हैं। यह investors, emotional नहीं होते। बल्कि intellectual होते हैं। यह knowledge और intelligence पर भरोसा रखते हैं। इनमें patience होता है। इन investors को average से ज्यादा return मिलते हैं।

Hybrid Investor – Enterprising और Defensive investors के बीच एक और investor भी हो सकता है। जिसे Hybrid Investors कहते हैं। यह वह लोग होते हैं। जो Defensive के साथ, Enterprising भी होते हैं। यह दरअसल उस category के लोग होते हैं। जो research में time खर्च करना नही चाहते हैं। या फिर इनको research करने की, knowledge ही नहीं होती।

      किसी सही व्यक्ति की advice लेने के लिए, पैसा भी खर्च करना नहीं चाहते। ऐसे लोग टीवी पर या Social Media पर सुनकर। अपना investment करते हैं। ऐसे लोगों को हमेशा, below average return मिलता हैं। ज्यादातर समय वह loss में ही रहते हैं। ग्राहम suggestions देते हैं। कि आप Hybrid Investor कभी न बने हैं। या तो आप proper research कीजिए। या नहीं कर सकते, तो defensive investors की strategy को follow कीजिए।

The Intelligent Investor
5 Strategies to Maximize Returns

Graham ने यहाँ पर investment की 5 strategies दी है। जिन्हें आप अपने nature के हिसाब से follow कर सकते हैं। इसे follow करके, आप अच्छे return भी हासिल कर सकते हैं। 

First Strategy - For Defensive Investor

Defensive Investors को यहां minimum effort की जरूरत होती है। न तो यहां पर, कोई research करनी है। न ज्यादा दिमाग लगाना है। न ज्यादा time खर्च करना है। यहां पर आप केवल Index Fund में invest कर दीजिए। Index Fund से मतलब है। कि आप Nifty based या Bank based fund ले सकते हैं। यहां पर आपको return भी, average के करीब ही मिलेंगे। या यूं कहें तो जैसा index चलेगा। वैसे ही आपको return मिलेंगे। यह minimum effort वाली strategy है। यहां आपको मेहनत बिल्कुल भी नहीं करनी। बस आपको इंडेक्स फंड में invest कर देना है।

Second Strategy

इस Strategy में, आपको थोड़ी मेहनत करनी है। यह भी defensive Investors के लिए ही है। इसमें ग्राहम कहते हैं कि आप ऐसी कंपनी में invest कीजिए। जिसका कम से कम revenues $500 million का हो। अगर इससे कम revenue है। तो invest मत करिए। उस कंपनी के पास current liabilities के दो गुने current Assets होने चाहिए। 

      उस कंपनी की long term borrowing, उसके net current assets से कम होनी चाहिए। वह कंपनी पिछले 10 साल से, लगातार Profitable होनी चाहिए। ऐसा न हो कि वह बीच के एक आधा साल loss में रही हो। वह कंपनी पिछले 10 साल से, लगातार Dividend Pay कर रही हो। इस कंपनी को, आपको ऐसे देखना चाहिए।

     इसके साथ ही वह कंपनी ऐसी होनी चाहिए। जो अपना minimum EPS, 10 साल के आधार पर, one-third बढ़ा लेती हो। यानी 10 साल के अंदर, 33-35% की growth दे देती हो। ऐसी कंपनियों में भी, आप invest कीजिए। तो ज्यादा से ज्यादा 15 times of earning के ऊपर मत करिए। या वह अपनी book value के 1.5 times के नीचे चल रही हो। तभी invest कीजिए। 

     इस strategy का जब आप Portfolio बनाएं। तो आपको minimum 10 और maximum 30 stocks रखना चाहिए।

Third Strategy

यह strategy उन्होंने enterprising investors के लिए बनाई है। यहां पर risk थोड़ा ज्यादा होता है। इसके साथ research work भी ज्यादा होता है। यहां पर, आप उन कंपनियों में invest कीजिए। जिनके current assets कम से कम 1.5 times, current liabilities से ज्यादा हो। इन कंपनियों का current debt, current assets से 1.1 time से ज्यादा नही होना चाहिए। यानी 110% से ज्यादा, उसके ऊपर कर्जा नहीं होना चाहिए। अपने current assets के मुकाबले।

      दूसरी चीज, जो देखनी है। उस कंपनी ने पिछले 5 सालों में, कोई loss न किया हो। यानी पिछले 5 सालों में, वह हर साल profitable रही हो। साथ में, लगातार Dividend भी pay कर रही हो। इसके साथ उसकी earning में, कुछ growth भी हो। ऐसी कंपनी के stocks, आपको उसके fixed assets का 1.2 times से ज्यादा नहीं लेना चाहिए।

     यानी उसका जितना fixed assets है। उसके मुकाबले उसको 1.2 से multiply कर दीजिए। तो उतना आपको, उसका market cap मिल जाएगा। यानी उस market cap से ऊपर, आपको नहीं लेना है। अगर आप इस strategy को follow कर रहे हैं। तो कम से कम 20 stocks को अपने portfolio में शामिल करने चाहिए।

Fourth Strategy

यह Strategy भी enterprising investors के लिए है। यह high risk और high rewards वाली Strategy है। यहां पर ग्राहम कहते हैं कि आपको ऐसी कंपनियों के शेयर लेना चाहिए। जो अपनी Net Current Assets Value (NCAV) के नीचे चल रहे हो। यानी जितना कंपनी का current assets है। उसके नीचे, उसका market cap होना चाहिए।

      ऐसी कंपनी में, आप invest कर सकते हैं। ध्यान रखने वाली बात यह है कि ऐसी कंपनी पिछले 2 सालों में loss में न गई हो। कम से कम पिछले 2 साल, उसके profitable होने चाहिए। क्योंकि यह एक risky strategy है। इसलिए आपको कम से कम 30 stocks को, अपने portfolio में शामिल करना चाहिए। ताकि आपका risk कम हो। आपका Portfolio भी ज्यादा diversified हो। 

Fifth Strategy - For Situational Investing

यह situational investing वाली strategy है। यहां पर, आपको regular research नहीं करनी है। बस कुछ situations पर नजर रखनी है। ऐसी situation जैसे कि किसी छोटी कंपनी को, कोई बड़ी कंपनी खरीद रही है। ऐसी deal generally, premium price पर होती है। तो ऐसे में, छोटी कंपनी के shares अक्सर बढ़ते हैं।

     तब आप ऐसी छोटी कंपनियों के share ले सकते हैं। कोई ऐसी कंपनी, जो किसी legal trouble में फंसी हो। किसी ऐसी कानूनी समस्या में, जो कि temporary हो। जो solve हो सकती हो। ऐसी कंपनी के stocks भी आप ले सकते हैं। ऐसी कंपनी जो snip off यानीकि Value unlocking कर रही हो। Subsidiary company को list करा कर। ऐसी situation में भी, आप invest कर सकते हैं। 

    ग्राहम कहते हैं कि आपको Situational Investing कम करनी चाहिए। आपके maximum stocks 2-4 होने चाहिए। इस strategy को, आपको अकेले follow नहीं करनी है। यानी कि आप सिर्फ situational stock ही ले। ऐसा आपको नहीं करना है। इस strategy को, आप किसी दूसरी strategy के साथ combine करके ले सकते हैं।

         ग्राहम ने इसके अलावा एक अहम बात की है। कि आप जब भी शेयर खरीदे। तो आपकी सोच, एक Business Owner के जैसी होनी चाहिए। अगर आप Investment को Business Partner के तौर पर लेंगे। तो आपको इसके बहुत अच्छे result मिलेंगे। अगर आप ऐसे नहीं लेंगे। तो आपको अच्छे result नहीं मिलेंगे। इसलिए आप Investing को एक Business के तौर पर लीजिए।

HUMBLE REQUEST

      आपने इस Book Summary में अब तक Benjamin Graham के Investing से सम्बंधित कुछ महत्वपूर्ण suggestions को जाना। इस Book में उन्होंने Investing से Related अन्य Golden Rules का उल्लेख किया है।

    अगर आप भी Invest करके, एक समृद्ध व सुखी जीवन जीना चाहते है।आप भी अपने पैसों को सुरक्षित रखते हुये।अपार पैसा अर्जित करना चाहते है।तो आपको भी Benjamin Graham की Book – The Intelligent Investor अवश्य पढ़नी चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.