Advertisements

Rishabh Pant Biography in Hindi। गुरुद्वारे मे रहकर बने टीम India के सुपरस्टार।

Rishabh Pant Biography In Hindi। A Journey from Zero to Hero Rishabh Pant। ऋषभ पंत के सफलता की कहानी। गुरुद्वारे में रहकर, बना भारत का सुपरस्टार। ऋषभ पंत के संघर्ष की कहानी। ऋषभ पंत की जीवनी। Rishabh Pant – The Enigma। Struggle Story of Rishabh Pant। Unknown Shocking Facts Of Rishabh Pant। Who is Girlfriend of Rishabh Pant। Rishabh Pant Lifestyle, Family, Girlfriend, Religion। Rishabh Pant Age, Height, Career, Income and Net Worth 2021। Motivational Journey of Rishabh pant। Rishabh Pant Jersey Number। Rishabh Pant Wiki । Success Story of Rishabh Pant। Who is Rishabh Pant

Rishabh Pant - A Journey from Zero to Hero
सफलता की पूरी कहानी

मुश्किलें जरूर हैं, मगर ठहरा नहीं हूं मैं। मंजिल से जरा कह दो, अभी पहुंचा नहीं हूं मैं।

      हम सभी बचपन में, कुछ ऐसे सपने देखते हैं। जिनको पूरा करने की दिल की ख्वाहिश होती है। हम उन सपनों के लिए जीते हैं। जिन्हें पूरा करना चाहते हैं। लेकिन जैसे-जैसे समय निकलता है। हम बड़े होते जाते हैं। वही हमारी पकड़ अपने सपनों से धीरे-धीरे कम होती जाती है। अंत में वह होता है, जो हम सोचते नहीं हैं। वह नहीं हो पाता, जो हम सोचते हैं। 

      इन सबके लिए, हम तमाम चीजों को दोष देते हैं। जिम्मेदारियां गिनाने लगते हैं। लेकिन ऐसा नहीं है। कि सभी अपने सपने तोड़ दें और अपनी जिम्मेदारियां छोड़ दें। कुछ ऐसे भी होते हैं। जो अपने जुनून और जज्बे की बदौलत, अपने सपनों पर अपनी पकड़ मजबूत कर लेते हैं।

       ऋषभ पंत भारतीय क्रिकेट के इतिहास के महानतम बल्लेबाज हैं। अगर आपने गाबा टेस्ट के पांचवें दिन का खेल देखा हो। तो आप इस बात से सहमत होंगे। 20 वर्ष की उम्र में, जिंदगी हमें कुछ इतना नहीं दिखाती। उस समय हम उसके तरीकों से वाकिफ हो रहे होते हैं। लेकिन ऋषभ पंत जैसे लोग भी होते हैं। जो जिंदगी की मुसीबतों और कठिनाइयों को, काफी पहले ही अपना यार बना चुके होते हैं। कुछ ऐसी ही कहानी है। गाबा सीरीज के हीरो ऋषभ पंत की।

     मुश्किल भरा सफर। हर सफर के डगर में, सिर्फ चुनौतियों का सामना। इन्हीं कांटो भरे सफर से निकलकर, ऋषभ पंत ने अपने मुकाम को हासिल किया है। 4 साल पहले, ऋषभ पंत ने टीम इंडिया में कदम रखा। सबको उम्मीद थी कि पंथ, धोनी की विरासत को आगे बढ़ाएंगे। लेकिन क्रिकेट कैरियर में, उतार-चढ़ाव की वजह से, पंत खुद को साबित करने में नाकाम रहे। ऋषभ पंत को असली पहचान, साल 2021 की शुरुआत में मिली।

Rishabh Pant Biography
Advertisements

Rishabh Pant - An Introduction

 

क्रिकेटर ऋषभ पंत 

एक नजर

पूरा नाम

ऋषभ राजेंद्र पंत

उपनाम

पंत

जन्म

4 अक्टूबर 1997

जन्म स्थान

रुड़की उत्तराखंड

पिता

राजेंद्र पंत

माता

सरोज पंत

स्कूल

इंडियन पब्लिक स्कूल, रुड़की

कॉलेज

श्री वेंकटेश्वर कॉलेज, दिल्ली विश्वविद्यालय, नई दिल्ली

भाई-बहन

साक्षी पंत (बहन)

गर्लफ्रेंड

इशा नेगी ईशा Negi

व्यवसाय

भारतीय क्रिकेटर,

 बल्लेबाज व विकेट कीपर

बल्लेबाजी का तरीका

बाएं हाथ के बल्लेबाज

जर्सी नंबर

77

कोच

तारक सिंहा सिन्हा

Turning point

विश्व कप अंडर-19 में बेहतरीन प्रदर्शन 2016

वेतन

3 लाख+ प्रति मैच

14 करोड़ प्रति वर्ष

इनकम का जरिया

IPL, Indian Cricket Team, Ads

नेटवर्थ

$5.5 million

ऋषभ पंत का परिवार व शिक्षा
Rishabh Pant - Family, Education

ऋषभ पंत का जन्म 4 अक्टूबर 1997 को उत्तराखंड के रुड़की में हुआ था। उनका परिवार, एक मध्यम वर्गीय परिवार था। इनके परिवार में कुल 4 सदस्य है। इनके पिता का नाम राजेंद्र पंत था। जिनका देहांत साल 2017 में वह गया था। इनकी माता का नाम सरोज पंत है। इनकी एक बड़ी बहन साक्षी पंत भी है।

    ऋषभ की प्रारंभिक शिक्षा इंडियन पब्लिक स्कूल, रुड़की में हुई। लगभग हर भारतीय बच्चे की तरह, ऋषभ को भी बचपन से ही क्रिकेट देखना व खेलना बहुत पसंद था। ऋषभ की Cricket Skill बचपन से ही, दूसरे बच्चों से कई गुना बेहतर थी। इसीलिए उन्हें स्कूल टीम में, काफी कम उम्र में जगह मिल गई।

     रुड़की में क्रिकेट की सुविधाएं कम होने के कारण। उनके परिवार ने तय किया कि ऋषभ दिल्ली जाकर, हर weekend में training लेंगे। ऋषभ 11 साल की उम्र में, 6 घंटे का सफर तय कर दिल्ली जाते। फिर वहां कोच तारक सिन्हा से, training लेते थे। जब तक ऋषभ ground में practice व training करते थे। तब तक उनकी मां दिल्ली के गुरुद्वारे में रहा करती थी। इस तरह वह कई महीनों तक गुरुद्वारे में रात बिताते और सुबह का लंगर खाकर प्रैक्टिस के लिए निकल जाते थे।

ऋषभ पंत के कैरियर मे पिता का योगदान
Rishabh Pant - Struggle Story

ऋषभ का बचपन से ही सपना, क्रिकेट में कैरियर बनाने का था। उनके सपने को साकार करने में, पिता की मेहनत को भुलाया नहीं जा सकता। ऋषभ के पिता, उनके सीने पर तकिया बांधकर। उन्हें कॉर्क की गेंद से अभ्यास कराते थे। ताकि ऋषभ पंत के मन से, तेज गेंदबाजों का डर खत्म हो जाए। इसके अलावा वो अपने बेटे की ताकत को बढ़ाने के लिए, माल्टोवा का दूध पिलाते थे। ऋषभ अपने क्रिकेट के इसी शौक के चलते। अपनी पढ़ाई पर बहुत कम ध्यान दे पाते थे। उन्होंने अपने क्रिकेट कैरियर की शुरुआत रुड़की से ही की थी।

         ऋषभ का क्रिकेट की तरफ रुझान को देखते हुए। उनके पिता ने उन्हें एक बड़ा क्रिकेटर बनाने को ठान लिया था। इसके बाद सबने प्रोफेशनल क्रिकेट खेलना शुरू कर दिया कम उम्र के होने के बाद भी जो सबको ऋषभ को लोकल टूर्नामेंट में सीनियर लोग अपने टीम में शामिल कर लेते थे ऐसे ही एक माइक में एक मैच में ऋषभ ने 150 रन ठोक दिए थे ऋषभ के आइडियल ऑस्ट्रेलिया के जाने-माने विकेटकीपर बल्लेबाज एडम गिलक्रिस्ट थे।

कोच की सलाह पर Under-16 मे शामिल

कोच तारक सिन्हा एक जाने-माने कोच हैं। जिनसे इंडियन क्रिकेटर आशीष नेहरा और शिखर धवन भी training ले चुके हैं। कोच ने सलाह दी कि उन्हें राजस्थान की Under-14 और 16 टीम के लिए trail देना चाहिए। कोच की सलाह मानते हुए। ऋषभ ने राजस्थान जाकर trail दिया। वहां उनका selection हो गया।

    यहां Selection के समय, उनकी उम्र 12 साल की थी। लेकिन उनका खेल अन्य बच्चों से ज्यादा अच्छा था। इसलिए उन्होंने वहां शानदार प्रदर्शन किया। इसी वजह से, वहां अगले season से नए नियम लागू हो गए। जिसमें यह नियम बना। कि दूसरे state के player, team में नहीं खिलाए जाएंगे। फिर ऋषभ को राजस्थान की टीम से निकाल दिया गया। वहां से ऋषभ दिल्ली वापस आ गए। फिर दिल्ली में practice और पढ़ाई करने लगे।

ऋषभ पंत का फर्स्ट क्लास क्रिकेट मे डेब्यू
Rishabh Pant - Debut in First Class Cricket

ऋषभ ने 2015 में, अपना First Class Debut बांग्लादेश के खिलाफ किया। इसमें उन्होंने 57 रन की एक अच्छी पारी खेली। इसके बाद भी, ऋषभ ने लगातार First Class में अच्छा प्रदर्शन किया। इसी वजह से, उनका selection उस टीम में हो गया। जहां से ऋषभ के career को उड़ान मिलने वाली थी।

       यह 2016 की Under-19 World Cup की Indian Team थी। ऋषभ ने वर्ल्ड कप में शानदार प्रदर्शन करके। यह साबित किया कि वह जल्द ही Team India का प्रतिनिधित्व करने वाले है। इस World Cup में ऋषभ ने 3 अर्ध शतक और 1 शतक लगाया। एक मैच में ऋषभ ने, 18 गेंदों में 50 रन बनाकर। सबसे तेज Half century बनाने का record अपने नाम कर लिया।

  इस Under-19 team के कोच राहुल द्रविड़ थे। Final में, सभी को उम्मीद थी। कि इंडिया ही इस World Cup को जीतेगी। ऋषभ Top Scorer थे। लेकिन फाइनल मैच के, पहले ओवर की तीसरी बॉल में ऋषभ पंत बिना कोई रन बनाए Stamp out हो गए। India Team ने अच्छा प्रदर्शन किया। लेकिन फिर भी वेस्टइंडीज ने, यह World Cup जीत लिया।

IPL की Delhi Capitals Team ने खरीदा
Rishabh Pant - Career in IPL

Under-19 में शानदार प्रदर्शन की वजह से, IPL की Team Delhi Capitals ने ऋषभ को 1.9 करोड़ रुपए देकर खरीद लिया। ऋषभ ने अपने IPL के तीसरे मैच में ही, 40 गेंदों में 69 रन बनाकर। एक मजबूत जगह बना ली। इसके बाद, वह दिल्ली में अपनी जगह और भी मजबूत करते चले गए।

        साल 2017 के IPL के दौरान ऋषभ के पिता की मृत्यु हो गई। इसके बाद, ऋषभ IPL छोड़कर घर चले आए। लेकिन ऋषभ अपने पिता का क्रिया-कर्म करके। अगले ही दिन वापस लौट आए। ऋषभ ने बहुत हिम्मत दिखाते हुए। अगले ही मैच में, Half Century लगाई। जिसके लिए, बड़े-बड़े क्रिकेटरों ने उनकी तारीफ की।

Rishabh Pant Replacement of M.S Dhoni

Under-19 में शानदार प्रदर्शन की वजह से, लोग यह मानने लगे थे। कि धोनी की जगह Team India में, अगर कोई Keeper आएगा। तो उसके सबसे ज्यादा chance ऋषभ पंत के ही हैं। ऋषभ के fans के अलावा, धोनी ने भी ऐसा ही सोचा था। इसीलिए ऋषभ ने जब से IPL खेलना शुरू किया।

     तब से एम एस धोनी ने एक mentor की तरह ध्यान देना शुरू कर दिया। माही जब भी ऋषभ से मिलते थे। उन्हें जरूर कोई न कोई सलाह देते। ऋषभ भी एम एस धोनी से पूछते। जिसमें उन्हें Problem होती थी। चाहे bating हो। Keeping हो या और कोई Problem। सिर्फ तभी नहीं, बल्कि आज भी ऋषभ और धोनी का रिश्ता छोटे और बड़े भाई जैसा है। दोनों की bonding को fans खूब enjoy करते हैं।

ऋषभ पंत Team India मे शामिल
Rishabh Pant - Debut in International Cricket

Domestic IPL और First Class Cricket में शानदार प्रदर्शन का यह नतीजा हुआ। ऋषभ को Team India में शामिल कर लिया गया। 1 फरवरी 2017 को ऋषभ को पहला इंग्लैंड के खिलाफ T20 इंटरनेशनल खेलने का मौका मिला। इसमें ऋषभ में सिर्फ 5 रन ही बनाए।

      18 अगस्त 2018 को ऋषभ को इंग्लैंड के खिलाफ ही, पहला टेस्ट खेलने का मौका मिला। अपने पहले मैच में ऋषभ ने छक्का लगाकर खाता खोला था। छक्का मारकर खाता खोलने वाले, ऋषभ पहले भारतीय बैट्समैन बन गए। इंग्लैंड के खिलाफ खेली गई। यह test series ऋषभ के लिए, अच्छी रही। इस सीरीज के पांचवें मैच में ऋषभ ने 114 रन ठोककर, अपनी पहली test century भी लगा दी।

      उन्हीं दिनों Team India का वेस्टइंडीज से होने वाली ODI Team का announcement हुआ। जिसमें ऋषभ पंत का भी नाम शामिल था। 21 अक्टूबर 2018 को, ऋषभ ने Indian One Day International team में debut किया। इस मैच में, उन्हें कोई भी बॉल खेलने का मौका नहीं मिला। 

     दिसंबर 2018 में ऑस्ट्रेलिया खिलाफ हुए। एक टेस्ट में ऋषभ ने 11 कैच पकड़े थे। इस मैच में एक test, सबसे ज्यादा कैच पकड़ने का record ऋषभ पंत के नाम दर्ज हो गया। साल 2018 का IPL ऋषभ के लिए बहुत शानदार रहा। इस IPL में ऋषभ ने 173 के strike rate से 684 रन बनाए थे। वह केन विलियमसन के बाद, सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में second position पर रहे।

ऋषभ पंत का गाबा ब्रिस्बेन मे प्रदर्शन
Rishabh Pant - Outstanding Performance in Gabba Brisbane

साल 2021 ऋषभ के लिए, बहुत शानदार रहा। इस साल की शुरुआत में Test के विकेटकीपर रिद्धिमान शाह थे। ODI और T20 के विकेटकीपर केएल राहुल थे। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सेकंड मैच में ऋषभ को खेलने का मौका दिया गया। Match की एक ही inning में ऋषभ को बल्लेबाजी मिली। जिसमें उन्होंने 29 रन बनाए।

      इस मैच की तीसरे मैच की सेकंड इनिंग में, ऋषभ ने 97 रन बनाकर। अश्विन और हनुमा बिहारी के साथ, Team India को हारने से बचा लिया। तीन टेस्ट में यह सीरीज 1-1 से बराबर हो गई थी। Series का चौथा और आखिरी मैच, गाबा ब्रिसबेन में था। जहां ऑस्ट्रेलिया 1989 से कोई मैच हारी ही नहीं थी। टीम इंडिया के कई दिक्कत खिलाड़ी, team से बाहर हो चुके  थे। जिसके कारण ही अंदाज लगाया जा रहा था। कि आस्ट्रेलिया 3 दिन में ही यह मैच जीतकर, Series जीत लेगी।

      दूसरी इनिंग में टीम इंडिया को 328 रन का target मिला। जो चौथी पारी के लिए, बहुत कठिन होता है। शुरुआत में ही रोहित शर्मा 18 रन पर आउट हो गए। इसके बाद सुमन गिल और पुजारा ने टीम इंडिया को 100 के पार पहुंचा दिया। इसके बाद सभी मुख्य खिलाड़ी आउट हो गए।

     अब ऋषभ पंत को पुछल्ले बल्लेबाजों के साथ 8 ओवर खेलने थे। जीत के लिए, 50 रन बनाने थे। ऋषभ ने match draw करने के बारे में नहीं सोचा। वह तेजी से रन बनाते रहे। एक तरफ विकेट गिर रहे थे। तो दूसरी तरफ, ऋषभ टीम को जीत की ओर ले जा रहे थे। 3 ओवर शेष रहते। Team India को ऋषभ पंत ने, 3 विकेट से जीत दिलाकर, इतिहास रच दिया। ऋषभ ने 89 रन बनाकर, मैन ऑफ द मैच का खिताब अपने नाम किया। ऑस्ट्रेलिया 30 साल बाद, इस मैदान पर किसी से हारी थी।

Rishabh Pant - Captain of Delhi Capitals in 2021 IPL

ऋषभ पंत को ऑस्ट्रेलिया की इस series से बहुत तारीफ मिली। यह पारी उन्हें हमेशा याद रहेगी। इसके बाद ऋषभ के haters भी उन्हें प्यार करने लगे। न सिर्फ टेस्ट क्रिकेट में, बल्कि क्रिकेट के हर format में ऋषभ पंत को टीम इंडिया में जगह मिली। 2021 के IPL में भी ऋषभ को दिल्ली कैपिटल्स टीम का कैप्टन बना दिया गया। इस IPL में ऋषभ की कप्तानी में, बहुत शानदार प्रदर्शन किया।

Rishabh Pant - Girlfriend/Affair

ऋषभ पंत के Link-up की खबरें, पिछले साल Bollywood actress उर्वशी रौटेला के साथ खूब रही। लेकिन अचानक ही यह खबर आई। कि ऋषभ ने उर्वशी को whatsapp पर block कर दिया है। ऋषभ का उर्वशी के साथ नाम जुड़ने से, उनका खेल भी खराब हो रहा था। इसीलिए दोनों ने आपसी सहमति से, यह रिश्ता खत्म कर दिया।

      फिलहाल तो ऋषभ का नाम, उनकी पुरानी फ्रेंड ईशा नेगी के साथ जुड़ा हुआ है। दोनों की Instagram Post देखकर समझ आता है। ईशा और ऋषभ दोनों open relationship में है। ईशा नेगी एक Model है। वह social media influencer हैं। Entrepreneur हैं। वह एक Interior Decor Designer भी है।

ऋषभ पंत की इनकम व नेट-वर्थ
Rishabh Pant - Income & Net-Worth

ऋषभ पंत 23 साल की छोटी-सी उम्र में, अपार संपत्ति के मालिक हैं। BCCI की Grade A की श्रेणी में आने के कारण, उन्हें प्रतिवर्ष 5 करोड़ रुपए मिलते हैं। वही इस बल्लेबाज-विकेटकीपर की मैच फीस के बारे में बात की जाए। तो उन्हें प्रति Test Match ₹300000, प्रति One Day ₹200000, प्रति T20 ₹150000 मिलते हैं। IPL के लिए ‘दिल्ली कैपिटल्स’ की तरफ से, हर साल ₹8 करोड़ मिलते हैं।

      ऋषभ पंत का हरिद्वार, उत्तराखंड में एक Luxury Designer घर भी है। इसके अलावा ऋषभ पंत के गैराज में महंगी गाड़ियों का collection भी है। ऋषभ पंत को Forbes ने 2019 में, Celebrity 100 की list में तीसरे स्थान पर रखा था। एक रिपोर्ट की माने। तो ऋषभ की कुल संपत्ति 2021 में 5.5 million dollar है। जो भारतीय रुपए के अनुसार, करीब ₹41 करोड़ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.